Friday, June 30, 2017

सामूहिक नरसंहार और यूपी सरकार

एक तरफ योगी सरकार सौ दिन पूरे होने पर अपनी सरकार की उपलब्धियाँ गिना रही है वहीं अपराधी भी सौ दिन की सरकार में अपनी उपलब्धियाँ गिनाकर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा रहे हैं।योगी जी के लाख प्रयासों के बावजूद अपराधियों और अपराधिक घटनाओं पर अंकुश नहीं लग पा रहा है।एक के बाद एक हो रही घटनाओं के आगे सरकार द्वारा सौ दिनों में किये गये तमाम कल्याणकारी कार्य पीछे हो गये हैं ।
रायबरेली जिले के ऊँचाहार क्षेत्र के इटोरा बुजुर्ग गाँव में सोमवार की रात प्रधानी चुनाव को लेकर पाँच लोगों की नृशंस सामूहिक हत्या पीटकर व जिन्दा जलाकर कर दी गयी।मूलरूप से प्रतापगढ़ के संग्राम गढ़ थाना क्षेत्र अन्तर्गत देवरा गाँव के पूर्व प्रधान रोहित शुक्ल अपने भाई देवाशीष शुक्ल की ससुराल इटोरा बुजुर्ग में प्रधानी का चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे।यह बात इटोरा बुजुर्ग के वर्तमान प्रधान राजा यादव उर्फ विजयबहादुर यादव को अच्छी नहीं लग रही थी और इसी बात को लेकर दोनों मे रंजित चल रही थी।सोमवार की रात करीब आठ बजे रोहित शुक्ल अपने साथियों के साथ प्रधान के गाँव सफारी कार से गया था।कहते हैं कि वहाँ पर दोनों पक्षों में तूल तकरार और फायरिंग हुयी।इसके बाद गाँव वाले प्रधान के पक्ष में आ गये जिससे रोहित आदि को वहाँ से भागना पड़ा।इसे दुर्भाग्य ही कहा जायेगा कि हडबडाहट में कार कुछ दूर पर जाकर बिजली के पोल से टकराकर पलट गयी।गाँव वालों ने कार को घेर लिया और रोहित समेत दो लोगों को कार जलाकर उसके अंदर ही मार डाला।कार  से उतर कर जान बचाकर भाग रहे तीन लोगों को बरगदहा के निकट ही पकड़कर वहीं पर पीट पीटकर मार डाला गया।पुलिस ने प्रधान के पुत्र विजय यादव समेत तीन लोगों को घटना की रात ही गिरफ्तार कर लिया है।सबसे दुखद तो यह है कि मारा भी गया और जब पुलिस मौके पर पहुँची तो उसे दुर्घटना बताकर सामूहिक हत्याकांड का स्वरूप बदलने की कोशिश की गयी।अगर राज्यसभा सदस्य कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने हस्तक्षेप न किया होता तो इसे दुर्घटना साबित कर दिया जाता।हत्यारों को प्रदेश के कबीना मंत्री का करीबी बताया जा रहा है इसीलिए मंत्री जी घटना में मारे गये लोगों को अपराधी बता रहे हैं जबकि मीडिया की जाँच पड़ताल मे यह बात झूठी साबित हुयी है।इस घटना में मारे गये किसी भी व्यक्ति का कोई अपराधिक इतिहास नहीं है।मंत्री जी का बयान योगी सरकार की भावनाओं के अनुकूल नहीं कहा जायेगा क्योंकि इस समय घटना के शिकार लोगों को सांत्वना का समय है।जिस तरह से नंगा नाच किया गया, लोगों को दौड़ा दौड़ा कर पीट पीटकर मार  डाला गया और दो लोगों को सरेआम कार के अंदर बंद करके जला दिया गया वह सरकार को गौरवान्वित नहीं कर रहा है बल्कि कंलक लगाने वाला है।सवाल इस बात का है कि पुलिस के अकबाल में क्या योगीराज में कमी आ गयी है? कैसे इस तरह का नंगा नाच करने की हिम्मत पैदा हुयी? यह साधारण सामूहिक हत्याकांड नहीं है बल्कि यह हत्याकांड आतंक पैदा करके कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगाने वाला है।इसी तरह इसके पहले राजमार्ग पर व अन्य जगहों पर घंटों बेखौफ लूटपाट मारपीट व्यभिचार हत्याकांड की घटना हो चुकी है।प्रधानी को लेकर दोनों पक्षों में तनातनी चल रही थी इसे पुलिस व प्रशासन जानता था अगर उसने एडवांस प्रकाशन ले लिया होता तो शायद यह खौफनांक सरकार को कंलकित करने वाला हादसा नहीं होता।सरकार का दायित्व बनता है कि इस घटना से जुड़े मंत्री की जाँच करवाकर कार्रवाई करें ताकि भविष्य में कोई मंत्री इस तरह की दुस्साहस करके सरकार को कटघरे में न खड़ा न कर सके।रायबरेली में जिस तरह सरेआम नंगा नाच किया गया उससे लगता है कि पुलिस का खौफ समाप्त हो गया है और प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है।प्रदेश में हो रही ताबड़तोड़ अपराधिक घटनाएँ सरकार के लिये चिंता का विषय है।ऐसी घटनाओं पर तत्काल रोक लगनी चाहिए और ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वालों को ऐसी सबक मिलनी चाहिए कि लोग भविष्य में नजीर पेश कर सके।अपराधियों के साथ ही उन्हें संरक्षण देने वाले चाहे अधिकारी कर्मचारी हो चाहे सत्ता या विपक्ष के राजनेता हो के साथ कोई रियायत नहीं होनी चाहिए तथा उन्हें निर्दोष बताकर उनकी पैरोकारी करने वालों के विरुद्ध षड्यंत्र रचने का मुकदमा चलाया जाना चाहिए।धन्यवाद।। भूलचूक गलती माफ।।सुप्रभात / वंदेमातरम् / गुडमार्निग / अदाब / शुभकामनाएँ।।ऊँ भूर्भवः स्वः------/ ऊँ नमः शिवाय।।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
                भोलानाथ मिश्र
    वरिष्ठ पत्रकार/समाजसेवी
रामसनेहीघाट,बाराबंकी यूपी।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

राम की बांसी नदी का अस्तित्त्व खतरे में

कुशीनगर । उत्तर प्रदेश के कुशीनगर से होकर बिहार प्रान्त में प्रवेश करने बाली राम के बांसी नदी का अस्तीत्व खतरे में है। एक दशक पूर्व तक स्वच्छ, निर्मल, कल-कल बहती यह नदी आज प्रदूषण की गिरफ्त में आकर जहरीली बन गई है।
नदी_की_महत्व*
नदी के महत्व को सौ काशी और एक बांसी की लोकोक्ति से समझा जा सकता है। बूजुर्ग बताते है कि  भगवान श्रीराम ने मिथिला जाते समय विश्वामित्र ऋषि और अपने भाई लक्ष्मण के साथ बासी नदी के तट पर विश्राम किया था।

*▪#त्रेता_युगीन_संबंधित_है_यह_नदी*
त्रेता युगीन पौराणिक महत्व की यह नदी संबंधित क्षेत्र के लोगों के लिए जीवनदायिनी है। माघ माह में स्नान के अवसर पर मोक्ष प्राप्ति के लिए इस नदी में लाखों लोग डुबकी लगाते हैं।

*▪#अब_नदी_की_अस्तित्व_क्या_है*
आज यह हमारी राम नामक बांसी नदी बहुत ही मैली हो गयी है। और अब दिन पर दिन इसका पानी विषैला होता जा रहा है। जरूरत है बस एक ऐसे भागीरथ की जो इस नदी को पुनर्जीवन देने के लिए तप करे। मै अरविंद कुमार सागर कुशीनगर के आप सभी सम्मानित समाजिक कार्यकर्ताओ के अपिल करता हू की इस जीवनी बांसी नदी की अस्तित्व बचाने हेतु आगे आयें

*▪#बांसी_नदी_की_जीवन_रेखा_क्या_हैं*

आप सभी वासियो को ज्ञातव्य हो कि कि नेपाल स्थित हिमालय की पहाडि़यों से निकली बांसी नदी पिपरा-पिपरासी, मधुबनी, पडरौना के खिरकिया स्थान होते हुए सेवरही के शिवाघाट से आगे पिपराघाट में नारायणी में जाकर मिल जाती है। जबकि यह करीब 100 किमी की यात्रा करते हुए यह नदी सैकड़ों गांवों को अपने जल से प्रभावित करती रहती है।
*▪#इस_नदी_से_किसानो_एवम_जनता_को_कैसे_होता_है_फायदा*

इस राम नदी बांसी की  जल को सिंचाई के अतिरिक्त अन्य जीवों के प्यास बुझाने के काम में लिया जाता है। यह नदी की शुद्ध जल होने के कारण नदी के किनारे बसे लोगो को आज से कुछ सालो पहले नलके से शुद जल मिला करता था जिसके फलस्वरूप बिमारी इत्यादि से भी मुक्ति रहती थी लेकीन आज जल दूषित एवम बिषैला होने से उपर सतह की पानी बिषैल हो चुका है जिसके कारण लोगो को पीने हेतु अब शुद जल घर पर नल से उपलब्ध नही हो पा रहा है एवम खेतो मे सिचाई करने पर फसल को भी नुकसान पहुच रहा है जब कि यही नही इस नदी से विभिन्न जलीय जंतुओं का रह-बसर भी था। वहीं कभी 200 मीटर की चैड़ाई वाले इस नदी का पाट सिकुड़ने लगा है। अब मात्र 50 मीटर में ही रह गया है।

*▪#नदी_को_सबसे_ज्यादा_नुकसान*
जैसे की आप सभी जानते भी हैं की पडरौना व सेवरही के शहरी इलाके के सीवरेज में मलजल के बहाव व चीनी मिलों के अपशिष्ट युक्त जल के नदी में आकर मिल जाने से एवम उसी प्रदूषित मलजल की मार से शुद्ध पानी आज जहरीला होकर जीवों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। वही गंडक नहर प्रणाली पर स्थित गनेशा पट्टी फाल के माध्यम से नहर के ओवर फ्लो को बांसी नदी में मिलाने के कारण नहर का सिल्ट नदी में जमा होने से भी नदी की गहराई और चौड़ाई प्रभावित हो रही है। इस विषम परिस्थिति के कारण जलीय जंतुओं के विलुप्त होने से नदी में उगे जलीय पौधों का पूर्णतः उपभोग न होने के कारण अवशेष बचे जलीय पौधों के सड़ने से भी नदी का पानी प्रदूषित हो रहा है। नदी में प्रदूषण के कारण इसके पानी से बदबू भी आने लगी है।

*▪#बांसी_नदी_के_कारण_नारायणी_की_भी_अस्तित्व_खतरे_मे*

यही नही इस बांसी नदी के नारायणी में मिलने से नारायणी भी प्रदूषित होती जा रही है। अगर ऐसे ही होता रहा तो बांसी भी हिरण्यावती नदी की तरह यह भी इतिहास में ही रह जायेगी।
*#अपिल*
आप सभी सम्मानितगण से मै अरविंद कुमार सागर अपिल करता हू जैसे की समाजसेवी लोग, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रिंट मीडिया नेतागण एवं वरिष्ठ व्यक्तित्व एक साथ मिलकर सामने आए और इस बांसी नदी को बचाने के लिए भरपूर प्रयास करें जिससे हमारी बांसी नदी की खतरे में पड़ी अस्तित्व एक बार दोबारा उज्जवल भविष्य की तरह निखर सके एवं जिससे बांसी नदी के किनारे बसे जनता को लाभदायक शुद्ध जल मिल सके।

*#अपिल_कर्ता*
अरविंद कुमार सागर
समाजिक कार्यकर्ता
कुशीनगर उत्तर प्रदेश

ऐसे जोड़े अपने आधार कार्ड को अपने पेन नम्बर से

नए नियमों के अनुसार अब Income Tax रिटर्न फाइल के लिए आधार कार्ड जरुरी कर दिया गया है। इसके लिए PAN Card से Aadhaar Card का Link होना जरुरी है। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आपका पैन कार्ड निरस्त हो सकता है। लेकिन आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है। इस पोस्ट में आपको android mobile के द्वारा PAN card को Aadhaar card से Link कैसे करे या कैसे जोड़े इसकी जानकारी दूंगा। जिससे आप केवल एक क्लिक में ही इसे लिंक कर सकेंगे। इसके लिए आपको क्या करना है, ये जानने के लिए आगे पढ़िए।
लिंकिंग process में जाने से पहले ये भी ध्यान रखें कि PAN card को Aadhaar card से Link करने के लिए दोनों की डिटेल same होना चाहिए। जैसे – डिटेल, नाम, जन्मतिथि। ये सभी डिटेल दोनों कार्ड में समान होना चाहिए तभी ये लिंक हो पायेगा।
अगर कोई डिटेल दोनों कार्ड में अलग-अलग है या स्पेलिंग मिस्टेक है तो लिंक नहीं हो पायेगा। इस condition में सबसे पहले आप अपने cards की डिटेल correct कराइये। जब पैन कार्ड और आधार कार्ड डिटेल समान हो जाये, उसके बाद ही लिंकिंग प्रोसेस में आगे बढ़िये।
मुझे उम्मीद है आप लिंकिंग प्रोसेस के लिए जरुरी requirements को चेक कर लिए होंगे। तो चलिए जानते है PAN card को Aadhaar card से कैसे जोड़े।
PAN card और Aadhaar card Link करने की पूरी जानकारी
सबसे पहले अपने एंड्राइड मोबाइल में Link PAN Card With Aadhar नाम से एप्लीकेशन को download कर लीजिये। ये बिलकुल फ्री है जिसे आप नीचे दिए गए लिंक से सीधे डाउनलोड कर सकते है।
Get It Now On Google Play
I Hope इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करने में आपको कोई परेशानी नहीं हुआ होगा। अगर इसमें किसी भी तरह की दिक्कत आये तो नीचे कमेंट box में बताये। आपकी पूरी मदद किया जायेगा।
तो चलिए अब लिंकिंग प्रोसेस में चलते है। सबसे पहले Link PAN Card With Aadhar app को ओपन कीजिये। अब सबसे ऊपर टैब Link Pan Card With Aadhaar पर tap कीजिये।
Next आपको इसके लिए Procedure बताया जायेगा। चाहे तो इसे एक बार पढ़ सकते है। फिर Link Pan Card With Aadhaar पर tap कर दें।
अब आपको डिटेल fillup(भरना) करना है। जो बहुत सिंपल है। PAN – इसमें पैन कार्ड नंबर भरे।
Aadhaar Number – इसमें अपना आधार नंबर भरे।
Name as per Aadhaar – इसमें जैसे आधार कार्ड में आपका नाम लिखा है, वैसा ही नाम भरे।
Enter the code as in above image – इसमें आपको captcha code भरना है जो ऊपर image में लिखा मिलेगा। इसे जैसा का तैसा भर दें। सभी डिटेल एक बार फिर से चेक करे उसके बाद नीचे Link Aadhaar टैब पर क्लिक कर दे। नीचे स्क्रीनशॉट में क्लियर किया गया है।
जैसे ही Link Aadhaar पर क्लिक करेंगे, उसके कुछ देर बाद Aadhaar PAN Linking Is Completed successfully का मैसेज मिल जायेगा। कुछ इस तरह –
Congratulation ! आपका PAN कार्ड आधार कार्ड से लिंक हो चुका है। फ्रेंड्स तो देखा आपने, कि कैसे बस कुछ ही समय में बस एक क्लिक में लिंक कर सकते हो और वो भी अपने एंड्राइड मोबाइल से।
मैंने PAN card और Aadhaar card को link करने की बहुत ही आसान तरीका बताने की कोशिश किया है। 

समाजवादी पार्टी ने सीतापुर में चलाया सदस्यता अभियान

सीतापुर। समाजवादी लोहिया वाहिनी के जिलाध्यक्ष द्वारा जिले भर में चलाया जा रहा है सदस्यता अभियान।सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर चलाये जा रहे समाजवादी सदस्यता अभियान के अंतर्गत समाजवादी लोहिया वाहिनी के जिला अध्यक्ष रिज़वान अहमद द्वारा जनपद भर की सभी विधानसभाओं में शिविर लगा कर लोगों को समाजवादी पार्टी की सदस्यता दिलायी जा रही है। सदस्यता अभियान के तहत  लोहिया वाहिनी जिला अध्यक्ष रिजवान अहमद द्वारा जनपद की महमूदाबाद विधानसभा के मोहल्ला बीबीपुर में उस्मान आरिफ़ के निवास पर एक दिवसीय शिविर लगा कर लोगों को सदस्यता दिलायी गई। सदस्यता शिविर में आये हुये लोगों को सम्बोधित करते हुये उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के समुचित विकास हेतु  समाजवादी पार्टी की सरकार बहुत ज़रूरी हैं। आज सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश समाजवादी सरकार को याद कर रहा हैं।समाजवादी सरकार के बाद से प्रदेश के विकास का पहिया थमा हुआ हैं। उन्होंने बताया कि समाजवादी पार्टी एक मात्र ऐसी पार्टी हैं जिसमें सभी वर्ग के विकास को ध्यान में रखा जाता हैं। जिला अध्यक्ष ने यह भी बताया कि समाजवादी पार्टी की सदस्यता ले रहे सदस्यों के साथ ही साथ सभी कार्यकर्ताओं को पूरा सम्मान दिया जाएगा। श्री अहमद ने युवाओं से बढ़-चढ़ कर राजनीति में आने की अपील भी की। सदस्यता शिविर में सुलेमान हाशमी, नईम हाशमी, ज़ैद सिद्दीक़ी, मनोज श्रीवास्तव, मुनीद अहमद, आमिर अंसारी, खुर्शीद अहमद, लकी अहमद मन्सूरी सहित दर्जनों लोगों ने सदस्यता प्राप्त की।
इस मौके पर समाजवादी छात्र सभा के विधानसभा अध्यक्ष शाद हाशमी, सुहेल अहमद, मो. दानिश, सिराज हुसैन, नसीम हाशमी सहित भारी संख्या में समाजवादी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

रिपोर्ट।खालिद मंसूरी

मैरिज हाल में हुई चोरी का पुलिस ने किया खुलासा

हरगाँव--बीती रात चोरों द्वारा मैरेज लान से हजारो रुपये की बर्तन चुरा लिये थे । चोरों को माल सहित गिरफ्तार करने मे पुलिस को सफलता प्राप्त हुयी । जानकारी के अनुसार हसमत अली पुत्र अख्तर अली निवासी ठटेरन टोला ओएल, लखीमपुर -खीरी हरगाँव मे क्योंटी मोड़ पे गोमती मैरेज लान ठेके पर ले रखा है । बीती रात उक्त मैरेज लान मे चोरों द्वारा घुसकर कमरे का ताला तोड़कर कमरे मे रखा एक हांडी सेट ,तांबा व पीतल के   11परात , 3भगौने व 5 ठक्कन चोर चोरी कर ले गये थे । लेकिन हसमत अली व मोहल्ले वासियों की निशानदेही पर पुलिस द्वारा तीर्थ मंदिर के पास से मेघनाथ दीक्षित उर्फ छोटे  पुत्र नवल किशोर निवासी मोहल्ला तीर्थ व अजय तिवारी पुत्र आशाराम तिवारी निवासी मोहल्ला शिव नगर थाना हरगाँव को माल सहित गिरफ्तार करने मे सफलता प्राप्त की । आरोपियों को जेल भेजने की तैयारी की जा रही है । उक्त आरोपियों की गिरफ्तारी मे  एस.आई . हरदुआरि लाल ,देवेंद्र सिंह , कांस्टेबल दिलीप पटेल ,सुरेश ,पूजा ,एकता शामिल रही ।

छेड़ छाड़ से परेशान होकर सत्रह वर्षीय युवती ने की अपनी जीवन लीला समाप्त

कुशीनगर।रामकोला थाना क्षेत्र के ग्राम हरपुर मठिया निवासी एक युवती द्वारा आज सुबह पंखे से लटक आत्म हत्या कर लिये जाने का मामला प्रकाश मे आया है।घटना की सूचना पर पहुंची मुकामी  पुलिस ने  शव को कब्जे मे लेकर पीएम के लिये भेज दिया है। पुलिस इस मौत को संदिग्ध मानते हुये सच्चाई का पता सुराग लगाने मे जुटी हुई है।वहीं इस घटना पर स्थानीय लोगो द्वारा तरह तरह की अटकले लगायी जा रही है।
             मिली जानकारी के अनुसार हरपुर मठिया गांव निवासी अन्जू उम्र लगभग 17 बर्ष जिसे गांव का ही एक युवक हमेशा परेशान करता था ।इस बात की जानकारी लड़की के परिजनो को हुयी तो परिजन युवक के घर पहुचकर उसके परिजनों से सारी बात बताया तो लड़के के परिजनों ने ऐसी हरकत करने से इकार कर दिया। और लड़की के परिजनों को अपने दरवाजे से गालियां देते हुये खदेड़ दिये ।युवती के पिता ने इस सम्बंध मे पुलिस को तहरीर सौप कार्यवाही का माग किया था। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर पुछताछ करने के बाद छोड़ दी। बताया जाता है कि युवक घर पहुचने के बाद युवती से फिर छेड़खानी किया और उससे शादी करने को कहा।आज सुबह परिजन घर छोड़ खेत के तरफ गये हुये थे।वापस लौटे तो देखा युवती एक कमरे मे पंखे मे रस्सी के फंदे से लटक रही थी ।इस घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर अन्त्य परीक्षण के लिये भेज दिया ।जबकि इस घटना को लेकर पुलिस अगली कार्यवाही मे जुटी हुई है।

बदायूं नही बन सका गड्ढा मुक्त आदेश साबित हुआ हवा हवाई

बदायूं।बिल्सी तहसील के अम्बियापुर चोरहा बिसौली मार्ग पर गड्ढे मुक्त नहीं हुए  सूबे के मुख्यमंत्री के आदेशों का जिले में असर नहीं हुआ। आज भी दर्जनों सड़के गड्ढा मुक्त होने की बाज झो रही है। गड्ढेदार मार्गों से लोगों को गुजरना पड़ रहा है।बिसौली रोड पर अम्बियापुर से दिगम्बर जैन मोड़ तक ही गड्ढों की भरमार है। आदेशों का पालन नहीं हुआ तो आगे स्थिति बद से बदतर हो जाएगी।सड़कों की हालत सुधारने के लिए सीएम के आदेश को जिले के अफसरों ने हवा हवाई साबित कर दिए। आज भी जिले की सड़कों में गहरे-गहरे गड्ढे है।आए दिन हादसे हो रहे हैं। हालत बद से बदतर होती जा रही है। अमरचन्द अम्बियापुर प्रधान ने कहा बिसौली रोड अम्बियापुर मोड़ पर चौबीस घंटों वाहन गुजरते, लेकिन सीएम के आदेशों के बाद भी गड्ढे नहीं भरे। आए दिन जाम लगा रहता है। धूल ने तो जीवन नरक कर दिया है। रविन्द्र शाक्य  ने कहा अम्बियापुर मार्ग की हालत आज भी पहले जैसी है। सीएम ने 15 जून तक गड्ढा मुक्त सड़के के आदेश दिए थे। सड़क बनने की उम्मीद जगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  दर्जनों सड़क ऐसी है, जिसमें जानलेवा गड्ढे है। सीएम के आदेश का जिले के अफसरों पर कोई असर नहीं पड़ा। 

बेटी हर मां बाप के लिए होती है रहमत

लड़कियों के स्कूल में आने वाली नई टीचर बेहद खूबसूरत और शैक्षणिक तौर पर भी मजबूत थी लेकिन उसने अभी तक शादी नहीं की थी...सब लड़कियां उसके इर्द-गिर्द जमा हो गईं और मज़ाक करने लगी कि मैडम आपने अभी तक शादी क्यों नहीं की...?मैडम ने दास्तान कुछ यूं शुरू की- एक महिला की पांच बेटियां थीं, पति ने उसको धमकी दी कि अगर इस बार भी बेटी हुई तो उस बेटी को बाहर किसी सड़क या चौक पर फेंक आऊंगा, ईश्वर की मर्जी वो ही जाने कि छटी बार भी बेटी ही पैदा हुई और पति ने बेटी को उठाया और रात के अंधेरे में शहर के बीचों-बीच चौक पर रख आया, मां पूरी रात उस नन्हीं सी जान के लिए दुआ करती रही और बेटी को ईश्वर के सुपुर्द कर दिया।दूसरे दिन सुबह पिता जब चौक से गुजरा तो देखा कि कोई बच्ची को नहीं ले गया है, बाप बेटी को वापस घर लाया लेकिन दूसरी रात फिर बेटी को चौक पर रख आया लेकिन रोज़​ यही होता रहा, हर बार पिता बाहर रख आता और जब कोई लेकर नहीं जाता तो मजबूरन वापस उठा लाता, यहां तक कि उसका पिता थक गया और ईश्वर की मर्जी पर राज़ी हो गया। फिर ईश्वर ने कुछ ऐसा किया कि एक साल बाद मां फिर पेट से हो गई और इस बार उनको बेटा हुआ, लेकिन कुछ ही दिन बाद बेटियों में से एक की मौत हो गई, यहां तक कि माँ पांच बार पेट से हुई और पांच बेटे हुए लेकिन हर बार उसकी बेटियों में से एक इस दुनियां से चली जाती ।सिर्फ एक ही बेटी ज़िंदा बची और वो वही बेटी थी जिससे बाप जान छुड़ाना चाह रहा था, मां भी इस दुनियां से चली गई इधर पांच बेटे और एक बेटी सब बड़े हो गए।टीचर ने कहा- पता है वो बेटी जो ज़िंदा रही कौन है ? "वो मैं हूं" और मैंने अभी तक शादी इसलिए नहीं की, कि मेरे पिता इतने बूढ़े हो गए हैं कि अपने हाथ से खाना भी नहीं खा सकते और कोई दूसरा नहीं जो उनकी सेवा करें। बस मैं ही उनकी खिदमत किया करती हूं और वो पांच बेटे कभी-कभी आकर पिता का हालचाल पूछ जाते हैं ।पिता हमेशा शर्मिंदगी के साथ रो-रो कर मुझ से कहा करते हैं, मेरी प्यारी बेटी जो कुछ मैंने बचपन में तेरे साथ किया उसके लिए मुझे माफ करना।मैंने कहीं बेटी की बाप से मुहब्बत के बारे मैं एक प्यारा सा किस्सा पढ़ा था कि एक पिता बेटे के साथ फुटबॉल खेल रहा था और बेटे का हौंसला बढ़ाने के लिए जान बूझ कर हार रहा था। दूर बैठी बेटी बाप की हार बर्दाश्त ना कर सकी और बाप के साथ लिपट के रोते हुए बोली बाबा आप मेरे साथ खेलें, ताकि मैं आपकी जीत के लिए हार सकूँ ।सच ही कहा जाता है कि बेटी तो बाप के लिए रहमत होती है..

Thursday, June 29, 2017

दूल्हा देख भड़की दुल्हन किया शादी से इंकार जाने पूरा माजरा

भटनी देवरियानगर के जलपामाता मंदिर पर एक शादी का आयोजन किया गया था। बिहार प्रान्त के कटया से पहुंची बारात में दूल्हे को कूबड़ देख दुल्हन कुछ इस कदर भड़की कि शादी से इंकार कर दिया। किसी ने पीआरवी टीम को शादी में विवाद होने की जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों में सुलह कराया लेकिन शादी न होने के कारण दोनों पक्ष निराश हो घर लौट गए। बिहार प्रान्त के मोहनपुर कटया निवासी टुनटुन राजभर की शादी बरहज थाना क्षेत्र के एक गांव में तय हुई। शादी निर्धारित तिथि पर भटनी नगर के जलपामाता मंदिर पर करने का दोनों पक्षों ने फैसला किया। समय पर बारात मंदिर परिसर पहुंची। जहां बारातियों की खातिरदारी वधु पक्ष करने में लगा था। इसी दौरान युवती को किसी ने बताया कि उसका होने वाला पति कूबड़ है। कूबड़ पति को देख दूल्हन इस कदर भड़की कि शादी करने से ही इंकार कर दिया। दोनों पक्षों के बीच समझौते का प्रयास जारी रहा। लेन- देन वापसी को लेकर किसी ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों में समझौता करा दिया। हालांकि काफी प्रयास के बाद भी युवती शादी को राजी नहीं हुई, जिससे दोनों पक्ष बैरंग लौट गया।

रिपब्लिकन पार्टी ने बदायूं में किया ईद मिलन समारोह

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के जिला अध्य्क्ष नदीम शेख के आवास पर हुआ ईदमिलन बैठक का आयोजन।बदायूं।आज दिनांक 27जून2017 दिन मंगलवार साय 6:00 बजे जिला अध्यक्ष रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया जिला बदायूं के नगर पंचायत सखानु में नदीम शेख के निवास स्थान पर एक बैठक आयोजित की गई बैठक में पार्टी के समस्त कार्यकर्ता व प्रदेश उपाध्यक्ष श्री नदीम इकबाल व मंडल प्रभारी डॉक्टर राकेश श्रीवास्तव आदि उपस्थित रहे कई पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने आरपीआई की सदस्यता ग्रहण की बैठक में नए कार्यकर्ताओं का स्वागत किया गया जिला अध्यक्ष नदीम शेख ने कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में फैसला लिया कि जिला मुख्यालय कार्यालय में अंबेडकर पार्क का बुरा हाल है लिहाजा आने वाले दिनों में डी एम को मांग पत्र सौपकर पार्क का रख-रखाव और अंबेडकर प्रतिमा स्थापित करने की स्वीकृति दी जाए जिससे केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री व रिपब्लिकन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री रामदास अठावले के हाथों द्वारा अंबेडकर की प्रतिमा स्थापित की जाए अंबेडकर प्रतिमा के रखरखाव कि खर्च की जिम्मेदारी ली समस्त कार्यकर्ताओं श्री गजेंद्र सिंह अधिवक्ता बावरी नरेंद्र सिंह ने कार्यकर्ताओं से बड़ी संख्या में अंबेडकर प्रतिमा लगाने का कार्यकर्ताओं से मौजूद रहने की अपील की रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया अंबेडकर साहब की बनाई गई पार्टी है नदीम शेख ने कहा कि अपना खोया हुआ हाथी वापस लाने के उत्तर प्रदेश में बहुत तेजी से प्रयासरत है निवास स्थान पर एक बैठक के साथ हुआ जिसमें नए कार्यकर्ताओं का शामिल होने पर स्वागत किया गया तथा रामदास अठावले के हाथों को मजबूत करने पर जोर दिया।