Sunday, September 24, 2017

20 दिन से भारतीय किसान यूनियन के नेता धरने पर प्रशासन मौन

भारतीय किसान यूनियन भानू का आज 20 वें दिन भी धरना जारी रहा आज धरने की अध्यक्षता विजेंदर अवाना की व संचालन राजेंद्र चौहान ने कियानोएडा प्राधिकरण द्वारा पहले किसानों की जमीन छीन ली गई जमीन अधिग्रहण हो जाने की वजह से हजारों लाखों किसान बेरोजगार हो गया तथा उनके साथ वे लोग भी बेरोजगार हुए जो किसानों  की जमीनों पर मजदूरी का कार्य करते थे लेकिन नोएडा प्राधिकरण ने किसानों व उन मजदूरों के लिए रोजगार की कोई व्यवस्था नहीं की यही नहीं रोजगार तो छीना ही छीना, किसानों की जमीन पर बने प्राइवेट स्कूलों में भी किसानों के बच्चों का दाखिला नहीं करवा सका । प्राइवेट स्कूलों के मालिक मालिकों की शह पर सरकारी स्कूलों की हालत भी दयनीय कर दी गई जिसके कारण किसानों के बच्चे भी अशिक्षित रह जाते हैं नोएडा प्राधिकरण द्वारा यह विकास की कौन सी परिभाषा है यह समझ से परे है । शिक्षा , रोजगार यहां तक कि किसान के मरने के बाद उसके मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए भी पैसे देने पड़ते हैं नोएडा में इतना भ्रष्टाचार है कि यहा के किसान और ग्रामीणोँ का जीना दुर्लभ है किसान व ग्रामीण परिवार वाले किसी तरह से अपना पालन पोषण कर रहे थे नोएडा प्राधिकरण द्वारा उनके वर्षों पुराने मकानों को भी ध्वस्त करने पर तुला हुआ है क्या नोएडा किसी स्कीम के द्वारा नोएडा के गांवों को उजाड़ कर किसी अन्य राज्य में बसाने की सोच रहा है इस को सार्वजनिक किया जाना चाहिए। भारतीय किसान यूनियन भानू का धरना जब तक जारी रहेगा तब तक किसानो की सभी समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता है आज धरने में मुख्य रुप से जगवीर नागर,चन्द्रु चौहान, बिजेन्द्र अवाना, विक्रम प्रधान, सोमेश्वर, हरवीर बाबा, नीरज त्यागी, सुनील अवाना, शशि त्यागी, पिंटू प्रधान आदि भारी संख्या में किसान मौजूद रहे

No comments:

Post a Comment