Monday, September 25, 2017

फर्जी कागजों के सहारे पट्टा कराने वालों की खैर नही-एसडीएम

कन्नौज  पवन कुशवाह के साथ आलोक प्रजापति

तिर्वा : फर्जी कागजों के सहारे पट्टा आवंटन करने वाले गिरोह का उपजिलाधिकारी ने पर्दाफाश किया है। एक आरोपी के घर छापा मार पट्टा आवंटन के कागज व कई मुहर बरामद की हैं। मुकदमा दर्ज करा दो आरोपियों को पुलिस हिरासत में सौंपा गया है।
उपजिलाधिकारी शालिनी प्रभाकर ने बताया कि 1974 में शासनादेश के मुताबिक प्रधानों को पट्टा करने का अधिकार नहीं रहा। प्रबंध समिति की खुली बैठक में प्रस्ताव होगा। इसमें कागजात तैयार होंगे। कमेटी में तहसील अधिकारी व ग्रामीण भी शामिल किए जाएंगे। इसके बाद उपजिलाधिकारी कार्यालय की संस्तुति पर आवेदकों को पट्टा दिया जाएगा। बताया कि झांसा देकर कुछ प्रधान फर्जी तरीके से धन उगाही करते हैं। पात्रता के आधार पर गरीबों को पट्टा दिया जाता है। कोई भी रुपये की जरूरत नहीं पड़ती है। एसडीएम ने बताया कि हसेरन के पप्पू यादव व राम प्रकाश यादव के घर छापा मारा गया। यहां पर फर्जी पट्टा आवंटन के कागज मिले हैं। सरकारी विभाग में यह कागज 1975 से छपना ही बंद हो चुके हैं। इसके साथ मौके पर फर्जी मुहर भी बरामद हुई हैं। दोनों आरोपियों ने 12 लोगों को फर्जीवाड़ा कर धन उगाही कर पट्टा आवंटित करने की बात कबूल की है। इसमें कुछ जमीन ¨सचाई विभाग की है। निचली गंग नहर के किनारे कई बीघा जमीन पर लोगों ने कब्जा जमा रखा है। एसडीएम ने बताया कि इसमें औरैया जिले के लोग भी शामिल है। इसका भी जल्द खुलासा किया जाएगा

No comments:

Post a Comment