Monday, September 25, 2017

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सुरु होंगे कई महत्वपूर्ण निर्णय

भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारण की दो दिवसीय बैठक आज शुरू हो गई जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अर्थव्यवस्था की स्थिति और अपनी सरकार के आर्थिक एवं राजनीतिक एजेंडे का खाका पेश कर सकते हैं जिसके इर्द गिर्द पार्टी अगले लोकसभा चुनाव की रणनीति का तानाबाना बुनेगी।साल 2019 के लोकसभा चुनाव के अभी डेढ़ साल शेष बचे हैं लेकिन भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है लिहाजा उसने सभी सांसदों, अपने शासन वालों राज्यों के मुख्यमंत्रियों, सभी विधायकों एवं पार्षदों और प्रदेश इकाइयों के अध्यक्षों समेत 2000 नेताओं को इसमें शामिल होने के लिये बुलाया है।भाजपा सूत्रों ने बताया कि 25 सितंबर को बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संबोधन खास होगा जो कुछ राज्यों में आसन्न चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव की दिशा तय करेंगे ।आज पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह 25 सितंबर को पेश होने वाले प्रस्तावों एवं अन्य विषयों के बारे में चर्चा करेंगे और इसे अंतिम रूप देंगे । सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान राजनीतिक प्रस्ताव पेश किया जायेगा जिसमें रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे को शामिल किये जाने की संभावना है। राजनीतिक प्रस्ताव तैयार करने का जिम्मा राम माधव और विनय सहस्रबुद्धे को सौंपा गया है । इसके अलावा एक आर्थिक प्रस्ताव भी पेश किया जा सकता है जिसमें वस्तु एवं सेवा कर :जीएसटी: से आए आर्थिक बदलाव, नोटबंदी के कारण बदली परिस्थितियों का जिक्र हो सकता है।उल्लेखनीय है कि रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे पर सरकार के रूख की कुछ विपक्षी दलों समेत एक वर्ग आलोचना कर रहा है। दूसरी ओर वस्तु एवं सेवा कर :जीएसटी: और नोटबंदी के मुद्दे पर भी सरकार को कांग्रेस समेत कुछ विपक्षी दल

No comments:

Post a Comment