Friday, October 6, 2017

कन्नौज के चर्चित रेप कांड में तीन आरोपियों को बीस बीस साल की सजा के साथ लगा 45 हजार का जुर्बाना अब आया होस

कन्नौज विमलेश कुशवाहा कन्नौज। एक साल पुराने चर्चित सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट द्वितीय के न्यायाधीश हितेन्द्र हरी ने जीजा.साले समेत तीन आरोपियोंको 20.20 साल की कैद व 45.45 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुना दी। कोर्ट ने ये रकम पीडि़ता को देने के आदेश दिए हैं। जुर्माना न देने पर छह.छह माह की अतिरिक्त सजा काटनी होगी।
शासकीय अधिवक्ता नवीन कुमार दुबे के मुताबिक छिबरामऊ थानाक्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी महिला ने 19 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया था। मुकदमे के अनुसार पीडि़ता लालकपुर में शिक्षिका थी। वह पांच जुलाई 2016 को स्कूल में थी। दोपहर 12ण्30 बजे सुभाष नगर का विकास तिवारीए रामनगर निवासी राघवेन्द्र शर्माए मैनपुरी के कुचरिया का ऋषि दीक्षित व रवि पाल कार लेकर स्कूल पहुंचे और बेटी को लंच देने के बहाने बुलाया। बेटी के बाहर आने पर जबरन कार में बैठाकर चले गए। रास्ते में नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोश करने के बाद एक मकान में बंधक बना सभी ने उसके साथ दुष्कर्म किया।
पीडि़ता को शाम चार बजे छिबरामऊ के पश्चिमी बाईपास पर बेहोशी हालत में छोड़कर चले गए। होश में आने के बाद बेटी ने घर पहुंच परिजनों को आपबीती सुनाई। जांच के बाद सभी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हुई। बुधवार को अदालत ने विकास तिवारीए राघवेन्द्र शर्मा व ऋषि दीक्षित को दोषी पायाए जबकि चौथे आरोपी रवि पाल पर दोष सिद्ध न होने से सुनवाई आगे बढ़ा दी गई। विकास तिवारी व ऋषि दीक्षित जीजा.साले हैं जबकि राघवेन्द्र शर्मा उनका दोस्त है

No comments:

Post a Comment