Monday, October 9, 2017

चित्रकूट में मरीजों के जीवन से खुलेआम खिलवाड़ करते झोला छाप डॉक्टर

चित्रकूट जिले के पहाड़ी क्षेत्र के गांव गांव में झोला छाप डाक्टरों की भरमार जहां प्रतिदिन सैकड़ों मरीज झोलाछाप डॉक्टरों की इलाज से होते हैं परेशान सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पहाड़ी एवं पहाड़ी ब्लाक के अनेकों गांव में अनगिनत झोलाछाप बिना कागज डिग्री के धुआंधार करते हैं इलाज जिससे मरीज जब गंभीर हालत में हो जाता है तो उसे बाहर भेज दिया जाता है जिससे मरीज व मरीज के परिवारिक जन और परेशान हो जाते हैं वही सरकारी अस्पतालों का भी यही हाल है इलाज के लिए सरकारी अस्पतालों में जाया जाता है जहां पहले तो डॉक्टर नहीं मिलते यदि मिलते हैं तो सही दवाएं नहीं रहती ना वहां सही रुप से जांच की सुविधा उपलब्ध होती है जांच उन लोगों की सही होती है जो खास व्यक्ति होते हैं गरीबों के लिए सरकार चाहे जितनी भी सुविधाएं उपलब्ध करा रही हो लेकिन हकीकत मे गरीबों को किसी प्रकार कि सही रूप से स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल पाती पहाड़ी में बिसंडा रोड, राजापुर रोड बरेठी रोड एवं कर्वी रोड में सरकारी अस्पताल के पीछे की भी यही समस्या है जहां बिना जांच के अंदाज में बड़ा सा बड़ा इलाज दे दिया जाता है दवा करने वाला डॉक्टर ही पैथोलॉजिस्ट बना हुआ है देखना यह है कि इन लापरवाहियों के ऊपर कब ध्यान दिया जाएगा व कब इनपर उचित कार्यवाही की जाएगी मिली जानकारी सूत्रों के अनुसार कुछ सरकारी महकमे के डॉक्टर अपने गांव में प्राइवेट प्रैक्टिस भी करते हैं जो पहाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पोस्टेड है
क्षेत्र में लगभग 500 डॉक्टर बिना कागज डिग्री के धुआंधार प्रैक्टिस कर रहे हैं जिन की मासिक आय 10000 से लेकर 100000 रुपए तक है ना ही उन्हें किसी प्रकार का टैक्स लगता है ना किसी प्रकार की जीएसटी लगती है इनमें से कुछ प्रेक्टिस करने वाला डॉक्टर हैं जिनके पास कुछ कागज हैं सरकार इनके ऊपर कोई जीएसटी लागू करेगी और कागज के लिए कठोर कदम उठाएगी या इसी तरह यह गांव के डॉक्टर  प्रेक्टिस और टैक्स चोरी करते रहेंगे !
रिपोर्ट-दिनेश सिंह कुशवाहा पहाड़ी (चित्रकूट)

No comments:

Post a Comment