Sunday, October 8, 2017

लाखों खर्च के वावजूद नही सुधरी गांवों की तकदीर -आदर्श दुबे की रिपोर्ट

सरकार गाँवो में मूलभूत सुविधाओं के विकास के लिए प्रत्येक माह लाखो रुपये खर्च करती है पर आज भी गाँवो के हालात जस के तस बने है,सरकार जितनी भी धनराशि भेजती है उस धनराशि के आधे हिस्से का ही काम होता,आधी धनराशि भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाती है।इस कारण गांवो की स्थिति में कोई सुधार नहीं दिख रहा है।
जिले के हाटा तहसील के मोतीचक विकासखंड के ग्राम सभा मंगलपुर उर्फ मंगरुआ का हाल भी कुछ ऐसा ही है कहने के लिए तो ये गांव पूर्व में दो बार अम्बेडकर ग्राम में चुना जा चुका है बाबजूद इसके इस गाँव मे पानी निकासी की समुचित व्य्वस्था नही है और न ही पीने योग्य पानी की व्य्वस्था है।ग्राम सभा में गंदे पानी के निपटारे के लिए कोई उपयुक्त जगह नही होने के कारण ये गन्दा पानी सडको पर लगा हुआ है,जिससे सड़के जर्जर हो रही है और रास्तो के बीच मे बड़े बड़े गढ़े हो रहे है जो दुर्घटनाओं को दावत दे रहे है।इस पर न तो ग्राम सभा कुछ कहने को तैयार है और न ही कोई अधिकारी ।ऐसे में सरकारी रुपया बेकार में बर्बाद हो रहा है और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रहा है।
आदर्श दुबे
2-कुशीनगर/महराजगंज

प्रदेश में पत्रकारो का उत्पीड़न थमने का नाम नही ले रहा कही पत्रकारो को जान से मारने की धमकियां मिल रही है तो कही उन्हें अभद्रता का शिकार होना पड़ रहा है,जब जिसे हम समाज का आईना कहते है उसका ये हाल है तो सोचिए समाज के एक सामान्य व्यक्ति को कितनी समस्याओं का सामना करना पड़ता होगा ।
वैसे कहने के लिए सरकार पत्रकारो के साथ है और पत्रकारहितो के लिए तत्पर है ,पर प्रदेश में प्रतिदिन कई पत्रकार  उत्पीड़न का शिकार होते है।बावजूद इसके भी सरकार अपनी आँखें बंद कर के बैठी हुई है ,ऐसा लगता है मानो सरकार पत्रकारहितो की बातों को लेकर गूंगी और बहरी  हो चुकी हैं ।उन्हें सत्ता के सिवाय  कुछ और नही दिखाई दे रहा है।
ताजा मामला उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले के घुघली ब्लॉक के एक सेक्रेटरी औऱ एक प्रधान के साथ पत्रकार उपेंद्र कुमार का है जो कि स्वराज एक्सप्रेस नामक टीवी चैनल के लिए काम करते है।इन्होंने सूचना के अधिकार के तहत किन्ही बिन्दु पर सूचना मांगी थी ।जिसमें एवज में सेक्रेटरी द्वारा उनसे 5000 रुपये की मांग की गई जिस धनराशि को देने से इन्होंने मनाकर दिया जिससे झलाये सेक्रेटरी ने प्रधान संग मिल कर  संयुक्त रूप से इनसे अभद्रता कीऔर मजाक भी उड़ाया मामले कीजानकारी होने के बाद अखिल भारतीय सर्वहितकारी पत्रकार महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री अम्बरीष पाण्डेय जी  निर्देशानुसार  इस संबंध मे जिलाध्यक्षा  महराजगंज पल्लवी त्रिपाठी द्वारा उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया और और उनके ही अथक प्रयास से घुघली थाने में ग्राम प्रधान के विरुद्ध धारा 147,504,506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है तथा सेक्रेटरी को निलंबित करने की मांग की जा रही है।
जब पत्रकार ही सुरक्षित नही है तो हमारा समाज कैसे सुरक्षित रहेगा, अब देखना होगा कि पत्रकारो के साथ हो रहे अत्याचारों पर सरकार की नींद कब तक खुलेगी।

No comments:

Post a Comment