Sunday, October 8, 2017

नाबालिक के हांतो लॉगऑन की जिंदगी की डोर

कन्नौज विमलेश कुशवाहा

कन्नौज रू यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने वाले ई.रिक्शा लोगों के लिए समस्या बन गए हैं। बेतरतीब ढंग से संचालन के कारण आए दिन जाम लगता है। चालक भी बेलगाम हैं। इससे हादसे हो रहे हैं। कई नाबालिग हाथों में ई.रिक्शा दिखते हैं।
नगर में ई.रिक्शा की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। वर्तमान में करीब 250 से अधिक रिक्शे सड़कों पर घूम रहे हैं। इन पर कोई नियम लागू नहीं होते हैं। मनमाने तरीके से रिक्शा रोक देते हैं। इसको लेकर अक्सर बाजार में जाम की स्थिति बनती है। दुर्घटना होने पर यह मौके से निकल जाते हैं। कोई भी नंबर न होने से पकड़ना भी आसान नहीं होता है। कई बार लोगों ने अधिकारियों को ज्ञापन दिए पर निराकरण नहीं हुआ।
नगर पालिका के पास नहीं सूची
सड़कों पर दौड़ने वाले ई.रिक्शा से संबंधित कोई सूची नगर पालिका के पास नहीं है। किसी रिक्शे पर पंजीकरण का नंबर भी नहीं है। इनके बारे में नगर पालिका कुछ भी कागज नहीं रखती है। रिक्शा चालक हाईवे के गांव तक फर्राटा भरते हैं। ऐसे में हादसों की संभावना बढ़ी है। कुछ दिन पहले एआरटीओ ने दो चालकों को सवारियां लेकर आते पकड़ा था पर कोई फर्क नहीं है।
अफसर बोले
ई.रिक्शा को हाईवे पर चलाने की अनुमति नहीं है। यह नगर के अंदर सवारियां ले जा सकते हैं। पंजीकरण नंबर जारी करने संबंधी कोई निर्देश जारी नहीं हुए हैं। जी0 टी0 पर मिलने पर कार्रवाई होगी।
.मोण् हसीबए एआरटीओ

No comments:

Post a Comment