Tuesday, October 3, 2017

भारतीय मानव समाज पार्टी के स्थापना दिवस पर दिखा लोगों का हुजूम

भारतीय मानव समाज पार्टी स्थापना  आज 2 ओकटुबर 2017 दिन सोमवार राष्ट्रपति महात्मा गांधी एवं इमानदार निष्ठावान पूर्व प्रधान मंत्री स्व लाल  बहादुर शास्त्री जी जयन्ती के शुभ अवसर पर भरतीय मानव समाज पार्टी का प्रथम स्थापना दिवस बरौत बाजार के निकट बॉम्बे होटल जनपद इलहाबाद उ.प्र मे सम्पन किया गया ।
सत्य एवं अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री के बताए हुए रास्ते पर चलने का संकल्प लेते हुए वक्ताओं ने विचार व्यक्त किय कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष रामधनी बिंद ने कहा कि देश को स्वतंत्र हुए 70 वर्ष बीत गए फिर भी गांव में निवास करने वाली एक बड़ी आवादी मूल सुविधाओं एवं हक अधिकार से वंचित है अमीरों एवं गरीबों की खाई गहरी होती गई गरीब समाज के उत्थान एवं विकास के लिए भारतीय मानव समाज पार्टी का गठन किया गया है जिसके माध्यम से वंचित गरीब समाज का अधिकार लेने की लड़ाई जमीनी स्तर पर लड़ी जाएगी।
एडवोकेट ठाकुर प्रसाद केवट ने कहा कि जो समाज भगवान बुद्ध के बताए हुए मिशन पर चलने का कार्य किया उस समाज के उन्नति व विकास को कोई नहीं रोक सका क्योंकि व्यक्ति के अंदर आत्मबल स्वाभिमान स्वभाविक रुप से समाहित हो जाता है बुद्ध जी ने कहा शिक्षित बनो संगठित बनो संघर्ष करो अतिथि देवो भव स्वयं प्रकाशमान बनो।
गोपीचंद बिंद ने कहा पूरे देश की जनता महंगाई से त्रस्त है जब से भाजपा सरकार देश व प्रदेश की सत्ता में आए तब से अराजकता चरम सीमा पर बनी हुई है गरीबों के लिए बड़े-बड़े वादे हुए जो पूरे होते हुए एक भी दिखाई नहीं दे रहे हैं।
भोला बिंद ने कहा कि समाजवाद एवं समतावाद के सिद्धांत पर मानवतावाद को लाना ही पार्टी का मूल उद्देश्य भ्रष्टाचार जातिवाद अत्याचार दुराचार आज ही को समाप्त कर एक अच्छे समाज की स्थापना करना ही पार्टी का मूल उद्देश्य है।
दया मोहन सुशील ने कहा कि डॉक्टर भीम राव अंबेडकर जी ने संविधान की संरचना कर सर्व समाज के लोगों को एक सूत्र में बांधने का काम किया साथ ही गरीबों के उन्नति व विकास के लिए आरक्षण की व्यवस्था देने का कार्य किया।
राजेंद्र प्रसाद बिंद ने कहा कि आज 70 वर्ष की आजादी के बावजूद देश की आबादी का बहुत बड़ा हिस्सा अधिकार और न्याय से वंचित होकर शोषण भूखमरी अशिक्षा अत्याचार जुल्म व जाती वाद का शिकार हो रहा है संविधान की मूलधारा क्षमता सतह न्याय व बंधुत्व की एक साथ अब तक की सरकारों ने खिलवाड़ किया है भरत की इस तस्वीर जिसमें अशिक्षा गरीबी बेरोजगारी अत्याचार अपमान शोषण जुल्म व गैर-बराबरी रोटी खाई अभिशाप बनी हुई है को देखते हुए भारतीय मानव समाज पार्टी की स्थापना की गई। पार्टी इस अभिशाप के लिए संघर्ष कर  देश में समता स्वतंत्रता न्याय बंधुत्व की स्थापना कर देश को विकसित राष्ट्र बनाने में योगदान करेगी
कार्यक्रम की अध्यक्षता शिव बहादुर एवं संचालन श्री राजेंद्र प्रसाद बिंद ने किया।
सभा मे निम्न लोग उपास्थि थे  ,महेश चौहान राजेश महान राम प्रसाद यादव सूबेदार केवट मनमोहन सुशील बहादुर कवि गणेश बिंद राजनीतिक बिंद छेदी बिंद रामलली राहुल यादव गंगाराम बिंद राम प्रसाद निषाद वह समस्त कार्यकर्ता उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment