Sunday, October 8, 2017

पत्रकार का उत्पीड़न मानवाधिकार का हनन है-बबलू सिंह यादव

पत्रकार इस समाज के आईना है,इनके माध्यम से ही हमे सरकार के कामकाज और हमारी सुरक्षा एवं विकास के लिए सरकार द्वारा निर्मित योजनाओं की जानकारी होती है।किसी पीड़ित व्यक्ति को जब शासन एवं प्रशासन द्वारा कोई मदद नही मिलती है तो हमे न्याय दिलाने के लिए पत्रकार अपना सर्वस्व लूटा कर हमें न्याय दिलाते है,इन्हें देश का चौथा स्तंभ भी कहा जाता है।आज देश का यही चौथा स्तंभ खतरे में है क्योंकि कुछ असामाजिक तत्वों को कलमकारों से डर है इसलिए वो कलमकारों को डरते एव धमकाते है उनकी बात न सुनने के कारण कलमकारों को मौत के घाट उतार दिया जाता है।
उक्त बातें इंडियन मानवाधिकार संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष बबलु सिंह यादव ने प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि पत्रकारो का उत्पीड़न मानवाधिकार का हनन है।

No comments:

Post a Comment