Saturday, October 28, 2017

यूपी में निकाय चुनावों पर विशेष रिपोर्ट भोला नाथ मिश्रा की कलम से

आखिरकार राजनैतिक दलों को विधानसभा चुनावों के बाद अपनी औकात पहचानने के लिए चुनाव का मौका मिल ही गया। कल सांय नगर निकायों के चुनावों की तिथियों की घोषणा करके चुनाव आयोग द्वारा चुनावी बिगुल बजा दिया गया है।इस बार मुख्य राजनैतिक दलों ने इस नगर निकायों के चुनाव में अपने सिंबल पर मतदाताओं के बीच जाने का फैसला किया है।नगर निकायों में राजनैतिक हलचल तेजी पकड़ने लगी है।राजनैतिक दलों ने अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा करना शुरु कर दिया है।जिन प्रत्याशियों के नामों की घोषणा हो गयी है वह मतदाता की गणेश परिक्रमा लगाने में जुट गये हैं।हर दल ऐसे नामी गरामी धनवान को मैदान में उतार रहा है जिसकी जीत संदेह न हो।मतदाताओं को एक और मौका खाने पीने और कमाने का मिल गया है और वह प्रत्याशियों से सिर झुकाकर मिलने लगा है। जो सामने जाता है वह उसी के कसीदे पढ़ने लगता है।मतदाताओं का एक बड़ा वर्ग किसी न किसी राजनैतिक दल से जुड़ा हुआ है।जो नही जुड़ा है वह अपनी भड़ास निकालने लगा है।चुनावी घोषणा के साथ ही मतदाता पार्टी के साथ साथ वर्ग धर्म सम्प्रदाय में बँटते जा रहे हैं। करीब करीब हर जगह भाजपा सपा की सीधी टक्कर होने की उम्मीद की जा रही है।वैसे हर अगर नगर निकायों की राजनैतिक स्थति अलग अलग होती है और यह चुनाव भी ग्राम पंचायतों के चुनावों की तरह ही होते हैं। नगर निकायों के विस्तारीकरण के दौर में हर नगर निकाय में तमाम ग्रामीण आबादी शामिल हो गई है।इस चुनाव में भी क्च्ची दाँरू कच्चा वोट पक्की दारू साथ में मुर्गा पक्की वोट का दौर चलता है।चुनाव भर भंडारे चलते हैं जहाँ पर खाने पीने सोने की सब व्यवस्थाएं होती हैं।चुनाव आयोग द्वारा जो चुनावी कार्यक्रम घोषित किया गया है उसके मुताबिक़ 16 नगर निगम,198 नगर पालिकाओं एवं 438 नगर पंचायत में होगा। इतना ही नहीं निकायों के चुनावों में नगर निगम के चुनाव ईवीएम से होंगे जबकि नगर पालिका, नगर पंचायत के चुनाव बैलेट से तीन चरणों में नगर निकाय चुनाव होंगे और पहले चरण में प्रदेश के बाइस जिलों में चुनाव होगा। मतदान की शुरुआत 22 नवम्बर को पहले चरण के चुनाव से होगी जबकि दूसरे चरण का चुनाव छब्बीस नवम्बर को होगा। दूसरे चरण में पच्चीस जनपदों तथा तीसरे चरण का चुनाव उन्तीस नवम्बर को होगा। तीसरे चरण में छब्बीस जनपदों में चुनाव होगा। मतदान सुबह साढ़े सात बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक होगा। प्रत्याशियों की भाग्य का फैसला पहली दिसंबर को मतगणना के साथ होगा।चुनाव कार्यक्रम जारी होते ही प्रदेश में आदर्श चुनावी आचार संहिता पूरे प्रदेश में लागू हो गयी है।हर पार्टी सक्रिय हो गयी है और नगर निकायों के चुनाव के माध्यम से अपनी औकात का पता भी लगाना चाहती है।आगामी दिनों होने जा रहे चुनाव पार्टी प्रत्याशी की कम पार्टी की दिशा और दशा के परिचायक होगें।कुल मिलाकर चुनावी धौंसा बज गया है और राजनैतिक दल मतदाताओं के सामने अपना अपना राग अलापने लगे है।समर्थन देने और विरोध करने का दौर शुरू हो गया है।धन्यवाद।। सुप्रभात / वंदेमातरम् / गुडमार्निंग / नमस्कार / शुभकामनाएं।। ऊँ भूर्भुवः स्वः------/ ऊँ नमः शिवाय।।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
           भोलानाथ मिश्र
वरिष्ठ पत्रकार/समाजसेवी
रामसनेहीघाट, बाराबंकी यूपी
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

No comments:

Post a Comment