Wednesday, October 25, 2017

संकरी गलियों के बीच फंसा नया एआरटीओ भवन

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज : मानकों की अनदेखी के कारण रितुकाला में निर्मित नया एआरटीओ भवन दुर्दशा का शिकार हो गया है। भवन परिसर की स्थिति खराब होने के साथ अब नया पेच कार्यालय तक पहुंचने को लेकर संकरी सड़क का फंस गया है। जीटी रोड से भवन तक पहुंचने के लिए संकरी सड़क बड़े वाहनों की आवाजाही में मुसीबत बनेगी। इससे अधिकारी फिलहाल शि¨फ्टग को रोके हुए हैं।
बारिश के बाद नए एआरटीओ भवन परिसर में जगह जगह दरारें पड़ चुकी हैं। कई जगह जमीन धसकने के साथ दीवार भी ढही थी। सुरक्षा के लिहाज से भवन परिसर कमजोर बताया जा रहा है। इस कारण शुरुआती दौर से कार्यालय शि¨फ्टग में तमाम अड़चने आ रहीं हैं। यहां दूर तक बीएसएनएल की लाइन नहीं है। इससे ब्राडबैंड की व्यवस्था नहीं हो पा रही है जबकि नये भवन तक लाइन बिछाने का भुगतान किया जा चुका है। अब इसके बाद नए कार्यालय तक पहुंचने वाली सड़कें रोड़ा बन गई हैं। जीटी रोड से नए भवन तक घनी बस्ती है। बीच बीच में कई मोड़ भी हैं। इससे बड़े वाहन यहां से नहीं गुजर सकते हैं। साथ में वाहनों की आवाजाही से हादसे होना तय है। संकरी गलियों के लिए लोक निर्माण विभाग के अफसरों से बातचीत हो रही है लेकिन दोनों तरफ मकान होने के कारण चौड़ीकरण में दिक्कत हो सकती है।
करोड़ों बर्बाद, सफेद हाथी बना भवन
रितुकाला में बना नया एआरटीओ भवन सफेद हाथी साबित हो रहा है। समाज कल्याण निर्माण निगम ने एक करोड़ 33 लाख रुपये से भवन का निर्माण कराया था। 25 मार्च 2016 को तत्कालीन एआरटीओ राहुल श्रीवास्तव को भवन हस्तानांतरित किया गया। उनके जाने के बाद से अब तक कार्यालय लगातार आ रही रुकावटों के कारण शिफ्ट नहीं हो सका है। सुरक्षा के लिहाज से भवन मानकों पर खरा नहीं उतरा है। बरसात में शिफ्ट करने से पहले दीवार ढहने से फिर काम रुक गया। आरोप है कि घटिया निर्माण सामग्री का इस्तेमाल किया गया है। परिसर के नीचे काफी चौड़े नाले को बिना भराव के पाट दिया गया। बिना बीम के दीवारें खड़ी करने से हादसे तय हैं।
नए भवन तक पहुंचने में यह दिक्कतें
-बस्तियों के बीच से कई वाहनों के गुजरने से दिक्कत।
-जीटी रोड से नए भवन तक कोई साधन नहीं।
-कई मोड़ होने के कारण बड़े ट्रकों से हादसे तय।
-भवन के आसपास फोन व इंटरनेट की व्यवस्था नहीं।
-भवन में ट्रक व वाहन घुसने पर जमीन धंसने का डर।
-वाहनों की फिटनेस व लाइसेंस परीक्षण के दौरान दिक्कतें।
अफसर बोले
नया भवन घनी बस्ती के अंदर बना है। इसलिए शि¨फ्टग में तमाम दिक्कतें आ रही हैं। सुरक्षा के लिहाज से परिसर ठीक नहीं है। गुणवत्ता भी काफी खराब है। संकरी गलियां होने के कारण बड़े वाहन पहुंचने में दिक्कत होगी। इसलिए अफसरों से बातचीत की जा रही है। जल्द फैसला लिया जाएगा।
-मो. हसीब, एआरटीओ।

No comments:

Post a Comment