Wednesday, October 18, 2017

सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों पर तुरन्त करवाई करे अधिकारी-मण्डलायुक्त

गोंडा से पवन कुमार द्विवेदी  की रिपोर्ट सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर मण्डलायुक्त एस0वी0एस0 रंगाराव व डीआईजी ए0के0 राय ने तहसील सदर में तथा डीएम जेबी सिंह व सीडीओ दिव्या मित्तल ने जिला स्तरीय तहसील दिवस करनैलगंज में पहंुचकर फरियादियों की शिकायतें सुनीं और उनके निराकरण के आदेश दिए।  सम्पूर्ण समाधान दिवस करनैलगंज में पहुंचकर डीएम ने लम्बित शिकायतों का निरीक्षण किया तो ज्ञात हुआ कि अब तक जनपद में सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 8661 शिकायतें प्राप्त हुई हैं जिनमें से 8410 शिकायतों का निस्तारण कर दिया गया। जनपद में सम्पूर्ण समाधान में प्राप्त शिकायतों के निस्तारण का प्रतिशत 97 प्रतिशत पाया गया। पूरे जनपद में कुल 239 शिकायतें निस्तारण हेतु लमिब्त पाई गई। प्राप्त शिकयतों में तहसील सदर में 2628, करनैलगंज में 2264, तरबगंज में 1936 तथा मनकापुर में 1833 शिकायतें प्राप्त हुई। डीएम ने लम्बित शिकयतों को एक सप्ताह के भीतर निस्तारित कर रिपोर्ट देने के आदेश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए है। सम्पूर्ण समाधान दिवस में देवीतिलमहा विकासखण्ड हलधरमऊ निवासी यशदीप सिंह ने प्रार्थनापत्र देकर बताया कि ग्राम प्रधान व सचिव द्वारा मिलीभगत करके मृतक शिवकली पत्नी रामनरेश को प्रधानमंत्री आवास दे दिया गया है और आवास की किस्त भी दे गई है। इसी प्रकार विकासखण्ड परसपुर ग्राम हरदिहा सपौर निवासिनी बच्ची पत्नी गंाराम ने बताया कि ग्राम प्रधान व पंचायत सचिव श्रीकान्त तिवारी ने पात्रता सूची में नाम होने के बावजूद सरकारी नौकरी करने की फर्जी रिपोर्ट लगाते हुए सूची से नाम हटा दिया और प्रधानमंत्री आवास नहीं दिया। ग्राम प्रधान द्वारा पक्का मकान होने के बावजूद अपने भाइयों का नाम प्रधानमंत्री आवास सूची में शामिल करा दिया गया है। गांव के ही शौकत अली ने भी शपथपत्र पर प्रार्थनापत्र देकर आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री आवास सूची में नाम होने के बावजूद पंचायत सचिव ने ग्राम प्रधान से मिलीभगत करके पक्का मकान होने की फर्जी रिपोर्ट लगाकर अपात्र घोषित कर दिया। डीएम ने सभी मामलों की जांच बीडीओ को सौंपी है और एक हफ्ते के भीतर जांच रिपोर्ट मांगी है। सेानू पुत्र अनिल चन्द्र निवासी गुुरसड़ा पहाड़ापुर हलधरमऊ ने बताया कि गांव के ही विपक्षियों द्वारा फर्जी परवाने के आधार पर जमीन बैनामा करा लेने की शिकायत की। डीएम ने मामलेे की जांच तहसीलदार को सौंपी है। मेहरबानाबाद हलधरमऊ निवासी रईस ने लेखपाल पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए बताया कि गांव के रमजान आदि ने सार्वजनिक खलिहान पर अवैध कब्जा कर लिया है। इस पर डीएम ने जांच कर खलिहान खाली कराने तथा लेखपाल की संलिप्तता की जांच रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं। डीएम ने सभी अधिकारियों को आदेश दिए है कि सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण और समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित कराएं। 

समाधान दिवस के दौरान सीडीओ दिव्या मित्तल, प्रभारी एसडीएम करनैलगंज नन्हे लाल यादव, सीएमओ डा0 संतोष श्रीवास्तव, सीओ करनैलगंज कृष्णचन्द्र सिंह, एसओसी जेडी यादव, तहसीलदार करनैलगंज, उपनिदेशक कृषि मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी विनय सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।


नीर निर्मल परियोजना की समीक्षा में डीएम ने लगाई फटकार

सड़क खोदकर छोड़ने वाले ठेकेदार पर दर्ज होगी एफआईआर, 15 दिन की मिली मोहलत  

नीर निर्मल परियोजना के तहत चयनित जनपद के 39 गांवों में पाइप्ड पेयजल कार्य की प्रगति की समीक्षा के दौरान डीएम ने ठेकेदारों द्वारा खड़न्जा उखाड़ देने और उसकी मरम्मत न कराने की ग्राम प्रधानों की शिकायतों का संज्ञान लेते हुए चेतावनी दी है कि यदि चयनित ग्रामों में जहां पर जल निगम के ठेकेदारों द्वारा 30 अक्टूबर तक मरम्मत कार्य नहीं पूरा कराया गया तो ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर कराते हुए जल निगम के दोषी अधिकारी के खिलाफ भी कठोर कार्यवाही की जाएगी।

समीक्षा के दौरान के ज्ञात हुआ कि जनपद में निर्मल परियोजना के प्रथम फेज में कुल 39 ग्राम पंचायतों का चयन किया गया है जिनमें से 26 ग्राम पंचायतों में कार्य पूरा हो गया है। जबकि 37 ग्राम पंचायतों मे ओवर हेड टैंक का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। इसी प्रकार द्वितीय फेज में 12 ग्राम पंचायतों का चयन किया गया है। बैठक में चयनित ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों द्वारा डीएम व सीडीओ को अवगत करया गया कि जल निगम के ठेकेदारों द्वारा पाइप डालने के दौरान गांव की सड़कों को खोद दिया गया और एक वर्ष से भी अधिक समय बीत जाने के बाद भी उसकी पुनः मरम्मत नहीं कराई गई जबकि इसके बारे में कई बार उच्चाधिकारियों से शिकायत भी की गई। मामले का संज्ञान लेते हुए डीएम जल निगम के अधिकारियों को 30 अक्टूबर तक मोहलत देते हुए चेतावनी दी है कि यदि ग्राम पंचायतों में खोदकर छोड़े गए कार्य पूरे नहीं कराए गए तो सम्बन्धित ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी और दोशी अधिकारी के खिलाफ भी एक्शन लिया जाएगा। उन्होने स्पष्ट निर्देश हैं कि गांवों में सड़क खेदकर कतई न छोड़े तथा पाइप्ड पेयजल योजनाओं का कार्य पूरा कराने के लिए कनेक्शन कार्य में तेजी लाएं और निर्धारित समय सीमा के भीतर योजनाओं का कार्य पूरा कराकर जलापूर्ति शुरू कराएं।

बैठक में सीडीओ दिव्या मित्तल, पीडी/डीडीओ वीरपाल, जिला कृषि अधिकारी विनय सिंह, नीर निर्मल योजना के सुनित सोनकर, देवेश कुशल, जल निगम के एई तथा ग्राम प्रधानगण उपस्थित रहे।


त्योहारों के दृष्टिगत डीएम ने निरस्त की छुट्टियां

दीपावली एवं छठ पर्व को दृष्टिगत रखते हुए डीएम जेबी सिंह ने जनपद के समस्त अधिकारियों की छुट्टियां निरस्त करते हुए बना अनुमति मुख्यालय न छोड़ने के आदेश दिए हैं। यह जानकारी देते हुए डीएम ने बताया कि सभी अधिकारियों को शांति व्यवस्था के दृष्टिगत मुख्यालय पर उपस्थित रहने पर अपने-अपने मोबाइल नम्बर ऑन रखने के आदेश दिए हैं।

No comments:

Post a Comment