Wednesday, October 25, 2017

नवोदय स्कूल के इस प्राचार्य पर एफआईआर दर्ज जाने क्यो

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति

गुरसहायगंज। जवाहर नवोदय विद्यालय की कक्षा-12 की छात्रा के आत्महत्या के मामले में कोर्ट ने तत्कालीन प्राचार्या के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।  मोहल्ला किइदवई नगर बाईपास निवासी जितेंद्र कुमार जाटव की 15 वर्षीय पुत्री सिमरन अनौगी स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में कक्षा 12 की छात्रा थी। छात्रा के पिता जितेंद्र कुमार का आरोप है कि तत्कालीन प्राचार्या सुमनलता यादव उसका उत्पीड़न कर रहीं थीं। सिमरन को स्कूल से निकाल देने की धमकी दी जा रही थी। छात्रा के पिता का आरोप है कि प्राचार्या और वार्डन ने विद्यालय से निकाल दिया था। इससे सिमरन तनाव में थी।
12 सितंबर की सुबह करीब आठ बजे उसने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सिमरन के पिता ने बताया कि इस मामले की सूचना गुरसहायगंज कोतवाली पुलिस को दी, लेकिन नवोदय विद्यालय से मामला जुड़ा होने के कारण पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत के बाद एसडीएम ने घर पहुंच कर मामले की जांच की। पुलिस ने जब मुकदमा दर्ज नहीं किया तो उसने कोर्ट की शरण ली। कोर्ट ने प्राचार्या के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का कोतवाली पुलिस को आदेश दिया है। कोतवाल आलोक यादव ने बताया कि कोर्ट का आदेश मिलते ही रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

No comments:

Post a Comment