Monday, November 6, 2017

बिहार में नाव डूबने से 12 की मौत सरकार का ढुलमुल रवैया सामने आया

बिहार के पटना और वैशाली जिले के बीच से गुजर रही गंगा और समस्तीपुर जिले से गुजर रही बागमती नदी में डूबने से 12 लोगों की मौत हो गयी. साथ ही 2-3 लोग लापता बताए जा रहे हैं.
हादसे पर बिहार के आपदा प्रबंधन मंत्री का कहना है कि सरकार हर जगह NDRF, SDRF को तैनात नहीं कर सकती. उन्होंने कहा कि सरकार इसके लिए जवाबदेह नहीं है, लोगों को नहाने के बाद वापस आ जाना चाहिए, खतरे वाली जगहों पर नहीं जाना चाहिए.

डूबते लोगों को बचाने में गईं और जानें

इससे पहले वैशाली जिले में गंगा नदी के बीच बने एक टापूनुमा जगह पर ये हादसा हुआ था. 9 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं जिनमें 4 पुरुष और 5 लड़कियां शामिल हैं. मरने वाले लोग फतुहा के निवासी थे.
बताया जा रहा है कि ये लोग पटना सिटी के मस्ताना घाट से होकर पिकनिक मनाने गंगा नदी के बीच इस जगह पर आए थे. इन लोगों के बचाने की कोशिश में ही कुछ दूसरे लोग भी डूब गए. लापता लोगों की तलाश गोताखोरों की मदद से जारी है.
वहीं, पटना के जिलाधिकारी ने कहा कि 8 शव बरामद हुए हैं और कुछ दूसरे लापता लोगों की तलाश जारी है. उन्होंने बताया कि सभी मृतकों के परिवारवालों 4-4 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा.
नाव पलटने से समस्तीपुर जिले में हादसा

दूसरी घटना में, समस्तीपुर जिले के बागमती नदी में एक छोटी नाव के पलट जाने से 3 महिलाओं की मौत हो गई. हादसे में बेहोश हो गए 5 दूसरे लोगों का इलाज अभी चल रहा है. नाव में बैठे दूसरे लोग तैरकर बाहर आ गया था. बता दें कि इस नाव में बैठकर लोग जानवरों के लिए चारा लेने के उद्देश्य बागमती नदी के पार जा रहे थे।
R.g.

No comments:

Post a Comment