Sunday, November 12, 2017

प्रदूषण और कोहरे से बचने के 5 घरेलू नुक्स जानेे-रामजी पांडेय के साथ

1 घरेलू नुस्खे*
लगातार हवा में घुलता जहर यानि कि प्रदूषण और कोहरा हमारी सेहत के लिए बहुत ही जानलेवा साबित हो रहा है। दिल्‍ली के प्रदूषण का आलम ये है कि लोगों का चैन से सांस लेना तक दूभर हो गया है। प्रदूषण बढ़ने से ना सिर्फ अस्थमा और सांस संबंधी दिक्कतें सामने आ रही हैं बल्कि बच्चों को भी कई तरह की समस्याएं हो रही हैं। आज हम आपको कोहरे से अपनी सेहत को बचाने के कुछ घरेलू नुस्खे बता रहे हैं।
*2 काली मिर्च*
काली मिर्च आपको प्रदूषण से बचने के लिए काफी हद तक मदद करती है। हर किचन में मौजूद काली मिर्च को अगर आप मसल या कूटकर पाउडर बनाकर शहद के साथ लेते हैं तो छाती में जमा सारा कफ साफ हो जाता है। दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने से अस्थमा और सांस संबंधी दिक्कतें सामने आ रही हैं। इस समस्‍या से बचने के लिए आप काली मिर्च का इस्‍तेमाल कर सकते है।
*3 सरसों का तेल*
आपने भी जरूर दादी-नानी से सरसों के तेल के फायदे सुने होंगे। लेकिन आधुनिकता की होड़ में हम लोग इतने अंधे हो गए हैं कि उन बातों को सिर से नकार देते हैं। जिसके चलते हम बीमारियों की चपेट में आते हैं। अगर आप अपनी नासिका छिद्र के आस-पास सरसों का तेल लगा लेते हैं, तो यह धूल के कणों को आपके फेफड़ों में प्रवेश करने से रोकता है। जिसके चलते प्रदूषण आपको कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा।
*4 गुड़ और शहद*
खानपान को अच्छा कर भी आप प्रदूषण से बच सकते हैं। गुड और शहद को अपनी डाइट में शामिल करने से वायु प्रदूषण से बचा जा सकता है। क्योंकि इनसे सेहत पर प्रदूषण का असर नहीं होता है। वैसे यह कोई नहीं बात नहीं है क्‍योंकि पुराने समय से ही गुड़ और शहद का इस्तेमाल शरीर को रोगों से बचाने के लिए किया जाता रहा है।
*5 लहसुन और हल्‍दी*
सोते समय हल्दी वाला दूध पीने से ना सिर्फ चोट सही होती है, बल्कि प्रदूषण से भी निजात मिलती है। यह एंटी-एलर्जिक, एंटी-बॉयोटिक व एंटी-टॉक्सिन का काम करता है। जो आपकी इम्‍यूनिटी को मजबूत बनाकर बहुत सारी बीमारियों से दूर रखता हैं। इसके अलावा लहसुन में एंटी-बॉयोटिक गुण पाए जाते हैं।

No comments:

Post a Comment