Wednesday, November 8, 2017

चुनावी माहौल में मंडी परिषर का काम रुका

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज : अब निकाय चुनाव को लेकर मंडी अधिकारी परेशान हैं। इस बार भी कन्नौज व छिबरामऊ मंडी में चुनाव संबंधी कामकाज होंगे। नीलामी चबूतरों पर कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। मतगणना भी टीनशेड के नीचे कराई जाएगी। आढ़तियों की दुकानों को स्ट्रांग रूम बनाया जाएगा। सुरक्षा के लिहाज से यहां मत पेटिकाएं रखी जाएंगी। इसके लिए आढ़तियों को ए श्रेणी की दुकाने खाली करनी पड़ सकती हैं जबकि अन्य काम के लिए सी श्रेणी की दुकाने ली जाती हैं। मतगणना तक मंडी परिसर छावनी में तब्दील रहेगा। हर बार आढ़ती, किसान समेत प्रत्येक आने-जाने वालों पर रोक रहती है। इससे मंडी कारोबार समेत आढ़तियों का धंधा चौपट होना फिर तय है। कारोबार ठप होने से मंडी शुल्क की भरपाई करना भी मुश्किल होगा। हालांकि अभी तक परिसर अधिग्रहण करने के कोई आदेश नहीं आए हैं लेकिन मौखिक तौर पर कहा जा चुका है।

हाईमास्क खराब, पोल गायब
निकाय चुनाव को लेकर प्रशासन चौकस है। तमाम इंतजाम किए जा रहे हैं। कभी भी परिसर अधिग्रहण के आदेश आ सकते हैं लेकिन मंडी परिसर के इंतजाम अब तक अधूरे हैं। नवीन मंडी परिसर की स्थिति बेहद खराब है। परिसर में एक दर्जन से ज्यादा पोल गायब हैं जबकि कई टूटे हैं। तार भी जगह जगह लटक रहे हैं। पूरब व पश्चिम की तरफ लगी दोनों हाईमास्क खराब हैं। पोल पर स्ट्रीट लाइटें भी नहीं हैं। शौचालय व पानी की भी दिक्कत है।
डेढ़ साल से भेज रहे प्रस्ताव
नवीन मंडी परिसर में अर्से से बिजली, पानी, शौचालय की दिक्कत है। विधान सभा चुनाव के दौरान तत्कालीन मंडी सचिव डा. आदित्य यादव ने दस पोल, 31 स्ट्रीट लाइट, दो हाईमास्क, बल्ब समेत अन्य उपकरण के लिए उप निदेशक विद्युत यांत्रिक लखनऊ को प्रस्ताव भेजा था। बजट के अभाव में मामला लटक गया। उन्होंने कई बार प्रस्ताव भेजा पर विचार नहीं हुआ। अब मंडी सचिव अनिल कुमार गौर ने इसका संज्ञान लिया है। उन्होंने सोमवार को निकाय चुनाव का हवाला देकर उप निदेशक विद्युत यांत्रिक लखनऊ को दोबारा प्रस्ताव भेजा है।

No comments:

Post a Comment