Thursday, November 23, 2017

सरकारी परिवहन कर्मियों की मनमानी पर खाश रिपोर्ट-भोला नाथ मिश्रा की कलम से

देश प्रदेश की अवाम को परिहन सुविधा उपलब्ध करना सरकार का फर्ज बनता है और उस फर्ज को पूरा करने के लिए सरकार आमजन को परिवहन सुविधा उपलब्ध कराती है।प्रदेश सरकार अपने परिवहन विस्तार की ओर लगातार अग्रसर है इसके बावजूद अभी भी परिवहन सुविधा से अछूते हैं।सरकार अपने परिवहन सुविधा विस्तार अभियान के तहत न्याय पंचायत स्तर तक परिवहन सुविधा उपलब्ध कराने की घोषणा की है।सरकारी यात्री बसों के कुछ चालकों परिचालकों की मनमानी सरकारी अभियान में बाधक बन रही है।फोरलेन राष्ट्रीय राजमार्ग बनने के बाद पुराने राजमार्ग पर बसे उन कस्बों चौराहों पर परिवहन निगम की बसों का जाना बंद हो गया है जहाँ पर बाईपास मार्ग बन गया है। फैजाबाद अकबरपुर आजमगढ़ गोरखपुर हो चाहे कैसरबाग चारबाग डिपो के अधिकारी कहते हैं कि कुछ बसों को छोड़कर अन्य सभी बसों के मूल ठहराव स्थान भिटरिया रामसनेहीघाट बाराबंकी जैसे महत्वपूर्ण स्थानों पर रूकने के निर्देश हैं। परिवहन कर्मियों की मनमानी यात्रियों पर भारी पड़ रही है और बसों में जहर खुरानी जैसी घटनाओं मे लगातार वृद्धि हो रही है।इन जिम्मेदार परिवहन कर्मियों की जिम्मेदारी व मानवता का अंदाजा सिर्फ इस बात से लगाया जा सकता है कि जहर खुरानी के अधिकांश यात्रियों को पुलिस की सुपुर्दगी में न देकर लावारिस सूनसान जगहों बेहोशी व अर्द्ध बेहोशी दशा में पर उतार दिया जाता है। बस चालकों की मनमानी व लूटखसोट के चलते आमजन को सरकार की परिवहन सेवा का लाभ नहीं मिल पा रहा है।यहीं कारण है कि सरकार को परिवहन विभाग से कोई खास आमदनी नही हो पाती है। चालक परिचालन के परिश्रम व ईमानदारी के बिना बेहतर सुविधाएं व आमदनी में व्यवसायिक वृद्धि अपेक्षाकृत प्राइवेट परिवहन सेवा के नहीं हो पाती है। एक बस मालिक पुरानी बस खरीदने कर एक नयी दो तीन बसों का मालिक बन जाता है।प्राइवेट परिवहन कर्मियों की बसों में जगह नही होती है क्योंकि उन्हें सवारियों की चिंता होती है लेकिन यह सरकारी परिवहन कर्मियों को इसकी जरा भी चिंता नहीं रहती है। सवारियाँ रोड पर खड़ी इंतजार किया करती हैं किंतु बसें रूकती नहीं हैं और चली जाती हैं। सरकारी परिवहन कर्मियों एवं निजी परिवहन कर्मियों की सांठगांठ का ही परिणाम है कि कुछ मार्गों पर सरकार परिवहन सुविधा उपलब्ध कराती है लेकिन आमदनी कम होने के कारण वह सेवाएं बंद हो जाती हैं।धन्यवाद।। सुप्रभात / वंदेमातरम् / गुडमार्निंग / नमस्कार / शुभकामनाएं।। ऊँ भूर्भुवः स्वः-------/ ऊँ नमः शिवाय।।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
           भोलानाथ मिश्र
वरिष्ठ पत्रकार/समाजसेवी
रामसनेहीघाट, बाराबंकी यूपी
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

No comments:

Post a Comment