Friday, November 17, 2017

दुर्घटनाओं को दावत देती ओवरलोडिंग गाड़ियाँ

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज। ओवर लोड ट्रैक्टरों से आए दिन हादसे हो रहे हैं। शहर के अंदर जाम लगा कर राहगीरों को छका रहे हैं। इनकी मनमानी के प्रति पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी चुप्पी साधे हैं। नतीजतन दिनों दिन ट्रैक्टरों की मनमानी समस्या का रूप लेती जा रही है।
मुख्य मार्गों व सड़कों पर अक्सर लोड ट्रैक्टर जाम की समस्या खड़ी कर देते हैं। ट्रैक्टर को कृषि कार्य के लिए परिवहन विभाग रजिस्ट्रेशन करता है। लेकिन अब तो खुलेआम इसका व्यावसायिक प्रयोग हो रहा है। सरकारी भाड़ा भी इससे ही ढोया जा रहा है। सरकारी गोदामों से माल ढुलाई के अलावा सहकारी समितियों पर इससे ही खाद की आपूर्ति हो रही है। नियम विरुद्ध होने के बाद भी अधिकारी मूक दर्शक बने हुए हैं। जब अधिकारियों ने अनदेखी के कारण ट्रैक्टर मालिकों ने इसमें ट्रॉली की बजाय ट्राला बांधना शुरू कर दिया है। इनमें बंधने वाली ट्रॉली का मानक निर्धारित न होने से समस्या और भी ज्यादा गंभीर होती जा रही है। ड्राइवरों के पास लाइसेंस नहीं है। तो ट्रॉलियों में रिफलेक्टर नहीं लगे हैं। फिटनेस पर गौर किया जाए तो किसी में लाइट नहीं तो किसी में ब्रेक नहीं हैं। कभी-कभी तो नाबालिग बच्चे तक स्टेयरिंग घुमाते देखे जाते हैं।

No comments:

Post a Comment