Thursday, November 23, 2017

बीज सत्याग्रह यात्रा का सांसद ग्राम में हुआ भव्य स्वागत

वाराणसी:-( मिर्जामुराद प्रधानमंत्री सांसद आदर्श ग्राम नागेपुर के लोक समिति आश्रम में  बीज सत्याग्रह यात्रा में शामिल किसानों का भब्य स्वागत किया गया। यात्रा में शामिल लोगों को नागेपुर के किसानों ने माला पहनाकर, अंगवस्त्र और देशी बीज भेंट किया। कार्यक्रम का शुभारंभ पंजाब नेशनल बैंक किसान प्रशिक्षण केंद्र के निदेशक एस एस गुहा ने दीप जलाकर किया।
इस अवसर मुख्यअतिथि आजादी बचाओ आंदोलन के राष्ट्रीय संयोजक प्रसिद्ध गाँधी वादी विचारक डा0कृष्ण स्वरुप गाँधी ने कहा कि हाईब्रीज बीजों,रासायनिक दवाओं,और उर्वरकों के दामों में बेतहाशा वृद्धि और मँहगाई की मार से आजीज आ चुके  किसानों हर साल हजारों की संख्या में आत्महत्या कर रहे है दिन प्रतिदिन मंहगी होती जा रही खेती से छोटे बड़े हर किसान कर्ज से दबा जा रहा है उन्हें अपने लागत का दाम भी नही मिल पा रहा है अगर उन्हें इनसबसे छुटकारा पाना है तो फिर से उन्हें   देशी और बहुफसली और जैविक खेती को अपनाना होगा उन्होंने कहा कि आज सैकड़ो बहुराष्ट्रीय कम्पनियों की नजर भारत के किसान पर है उन्हें ज्यादा मुनाफा का लालच देकर अपने महंगे नपुंसक बीज साथ ही रासायनिक दवा बेचकर खुद मुनाफा कमा रहे है और भारत के किसान को पारम्परिक खेती को छोड़ने के लिए मजबूर कर रहा है।लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने बताया कि लोक समिति द्वारा नागेपुर में  अपना बीज बैंक का संचालन महिला किसान समूह के द्वारा किया जा रहा है । बीज बैंक में भारतीय देशी प्रजाति के सभी प्रकार के फल,सब्जी,अनाज,दलहनी,एवं,तिलहनी आदि उन्नतशील बीजों का संग्रह है । किसानों को हाईब्रीज व नपुंशक बीजों,रासायनिक दवाओं,और रासायनिक उर्वरकों से जमीन, पानी और स्वास्थ्य आदि पर हो रहे बुरा प्रभाव पर भी जागरूक करने के साथ ही किसानों को जैविक खेती,प्राकृतिक खेती जैसे कम लागत वाली खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है ।स्वराज विद्यापीठ इलाहबाद के साथी स्वप्नील के नेतृत्व में बीज सत्याग्रह यात्रा का शुभारम्भ 2 अक्टूबर से नर्मदा नदी के उद्भव स्थल अमर कंटक से निकाली गयी है।  यात्रा के संयोजक डा0 स्वप्निल ने बताया कि यह यात्रा उत्तर प्रदेश,उत्तराखंड, मध्यप्रदेश  के विभिन्न जिलो के गाँवो में होते हुए आज नागेपुर में यात्रा का  किया जा रहा । यात्रा का उद्देश्य गांव के किसानो को ज्यादा से ज्यादा देशी बीजों की फसलों को लगाने के लिए प्रोत्साहित करना है। यात्रा में सतेंद्र ,संचित,विश्वनाथ जी शामिल रहे।

कार्यक्रम का संचालन लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने स्वागत सरिता ने और धन्यवाद रामबचन ने किया।इस अवसर  सुनील,पंचमुखी,सोनी,श्रद्धा,अम्बुज पाण्डेय, ,स्वाती सिंह,रामकिंकर, रामबचन,विजय,श्यामसुन्दर विद्या ,शमबानो,शकुंतला,पार्वती,बासमती,समेत बड़ी संख्या में महिला व किसान मौजूद रहे॥

रीपोर्टर :- सन्तोष कुमार सिंह

No comments:

Post a Comment