Friday, November 17, 2017

अब अगर अवैध शराब बनाई या बेची तो

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज : अब अवैध शराब बनाते या बेचते पकड़े गए तो पूरी ¨जदगी जेल में कटनी तय है। शासन ने आबकारी अधिनियम में संशोधन कर नियमों को और सख्त कर दिया है। अवैध शराब कारोबार करने वालों पर धारा (60-क) के अंतर्गत कार्रवाई होगी। नई धारा में आजीवन कारावास समेत मृत्यु दंड की सजा का भी प्रावधान है। जमानत न होने के साथ दस लाख तक जुर्माना भी देना होगा। अवैध शराब में जहरीले तत्व मिलने से ये कदम उठाया गया है।
दो दिसंबर तक चप्पे-चप्पे पर नजर
निकाय चुनाव के मद्देनजर आबकारी विभाग दो दिसंबर तक पुलिस के साथ अवैध शराब के खिलाफ विशेष अभियान चलाएगा। टीम का नेतृत्व जिला आबकारी अधिकारी कृष्ण मोहन करेंगे। दिनरात वाहनों की चेकिंग होटल, ढाबा, रेस्टोरेंट, बस स्टैंड पर छापेमारी होगी। देसी, अंग्रेजी व बीयर शॉप का प्रतिदिन निरीक्षण कर रिपोर्ट उप आबकारी आयुक्त कानपुर मंडल व जिलाधिकारी को दी जाएगी। जिले में कटरी क्षेत्र, गिहार बस्ती, कांशीराम कालोनी रडार पर हैं। हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली व अन्य राज्यों से आने वाली शराब पर भी नजर रहेगी। वहां से आने वाले ट्रकों के होटल, ढाबे, रेस्टोरेंट के आसपास रुकने पर फौरन चेक किया जाएगा।
छह दिन में 1200 लीटर शराब बरामद, तीन को जेल
निकाय चुनाव में गड़बड़ी की आशंका पर आबकारी विभाग ने नौ से 14 नवंबर तक तेजी से कार्रवाई की है। नगर के कुतुलूपुर, पैन्दाबाद, कुसुमखोर,मियागंज, कटरी व गुरसहायगंज, तिर्वा, छिबरामऊ, ठठिया कि गिहार बस्ती, कांशीराम कालोनी में छापामार 1200 लीटर अवैध शराब बरामद की गई है। आठ के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तीन को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा गया। शराब की खेप निकाय चुनाव के लिए तैयार करते समय यह कार्रवाई हुई है।
अफसर लाचार, नहीं बनती हनक
जिले के आबकारी अधिकारी चौकस हैं पर हालात से मजबूर हैं। विभाग को अब तक ठीक ढंग का कार्यालय तक नहीं मिल सका है। स्टाफ की अर्से से कमी है। एक आबकारी निरीक्षक पर पूरे जिले की जिम्मेदारी है, जबकि दो निरीक्षक के पद खाली हैं। वहीं, सुरक्षा के मद्देनजर चार सिपाही हैं। विभाग के पास औचक निरीक्षण के लिए खटारा जीप है।
-------------
निकाय चुनाव के मद्देनजर विशेष अभियान चलाने की हिदायत है।
आबकारी अधिनियम में संशोधन किया गया है। इससे लोगों में डर बढ़ेगा। मृत्यु दंड से लेकर लाखों के जुर्माने की नियमावली से अवैध कारोबारी कम होंगे।
-कृष्ण मोहन गोस्वामी, जिला आबकारी अधिकारी
[16/11 5:02 pm] पवन कुशवाहा: ओवरलोडिंग व मनमानी से हो रहे हादसे
कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज। ओवर लोड ट्रैक्टरों से आए दिन हादसे हो रहे हैं। शहर के अंदर जाम लगा कर राहगीरों को छका रहे हैं। इनकी मनमानी के प्रति पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी चुप्पी साधे हैं। नतीजतन दिनों दिन ट्रैक्टरों की मनमानी समस्या का रूप लेती जा रही है।

मुख्य मार्गों व सड़कों पर अक्सर लोड ट्रैक्टर जाम की समस्या खड़ी कर देते हैं। ट्रैक्टर को कृषि कार्य के लिए परिवहन विभाग रजिस्ट्रेशन करता है। लेकिन अब तो खुलेआम इसका व्यावसायिक प्रयोग हो रहा है। सरकारी भाड़ा भी इससे ही ढोया जा रहा है। सरकारी गोदामों से माल ढुलाई के अलावा सहकारी समितियों पर इससे ही खाद की आपूर्ति हो रही है। नियम विरुद्ध होने के बाद भी अधिकारी मूक दर्शक बने हुए हैं। जब अधिकारियों ने अनदेखी के कारण ट्रैक्टर मालिकों ने इसमें ट्रॉली की बजाय ट्राला बांधना शुरू कर दिया है। इनमें बंधने वाली ट्रॉली का मानक निर्धारित न होने से समस्या और भी ज्यादा गंभीर होती जा रही है। ड्राइवरों के पास लाइसेंस नहीं है। तो ट्रॉलियों में रिफलेक्टर नहीं लगे हैं। फिटनेस पर गौर किया जाए तो किसी में लाइट नहीं तो किसी में ब्रेक नहीं हैं। कभी-कभी तो नाबालिग बच्चे तक स्टेयरिंग घुमाते देखे जाते हैं।

No comments:

Post a Comment