Friday, November 24, 2017

मुख्यमंत्री से मांग है की जुलानिया का तुगलकी आदेश वापस लेवें-राधा बल्लभ शारदा

एम.पी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राधावल्लभ शारदा ने प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान से पत्र माध्यम से मांग करी है की जुलानिया के तुगलगी फरमान को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जावे। प्रदेश अध्यक्ष ने अपने तीखे तेवर में यह भी कहा की जुलानिया ने पंचायत के जनप्रतिनिधियो के पर क़तर डाले है साथ ही यह भी कहा की अच्छा हुआ जुलानिया प्रमुख सचिव जनसम्पर्क नहीं बने अगर बन जाते तो मुख्यमंत्री सहित सभी जनप्रतिनिधियो को भी क़तर जाते।
आज देश एव प्रदेश के समाचार पत्रो में राज्य सरकार के द्वारा जनता के लिए किये जा रहे कार्यो की जानकारी विज्ञापन के माध्यम जनता तक पहुंचाने का काम जनसंपर्क विभाग कर रहा है इतना ही नहीं यदि विज्ञापन में प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री के फोटो नहीं प्रकाशित होते तो प्र्रदेश कि आधी आबादी चहरे से इन्हें नहीं जानती।
एम पी वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से पत्र के माध्यम से मांग की है कि जुलानिया के तुगलकी फरमान को निरस्त कराया जाय।
प्रमुख सचिव जुलानिया के तुगलकी फरमान ने ग्रामीण क्षेत्रों के पत्रकारों को संकट में खड़ा कर दिया है
इतना ही नहीं कि जुलानिया के तानासाही आदेश का प्रभाव पत्रकारो पर ही हुआ है वरना पत्र भी प्रभावित हो रहें हैं जिससे पंचायत प्रतिनिधि भी प्रभावित हो रहें हैं। युनियन के प्रदेश अध्यक्ष राधावल्लभ शारदा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि जुलानिया के द्वारा जारी आदेश तत्काल प्रभाव से वापस लेकर पंचायत के जन प्रतिनिधि का सम्मान बरकरार रखने का फैसला लें। इस एक आदेश को वापस लेने से जहां जन प्रतिनिधि का सम्मान बढ़ेगा वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत पत्रकारो एवं समाचारपत्रों का आर्थिक संकट दूर होगा।

No comments:

Post a Comment