Saturday, December 16, 2017

गैंगरेप के आरोपी को मिली कर्मो की सजा

शाहजहाँपुर के थाना गढ़िया रंगीन क्षेत्र के एक गांव में वर्ष 2014 में नाबालिग से गैंगरेप के आरोपी पर मुकदमे के दौरान दोषसिद्ध होने पर विशेष न्यायाधीश/अपर सत्र न्यायाधीश षष्ठम फराह मतलूब ने आजीवन कारावास व 60 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है।
अभियोजन पक्ष के अनुसार क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला व उसकी 13 वर्षीय बेटी 17 अप्रैल 2014 को रात अपने घर पर सो रही थी।रात में डभौरा गांव के राहुल और श्रीपाल तमंचे लेकर घर में घुस आये और उसकी बेटी को उठा कर अपने घर ले गये।जहाँ उसकी बेटी के साथ दोनों लोगो ने कई बार रेप किया।बाद में किसी को घटना के बारे में न बताने को कहा और बताने पर माँ और बेटी को जान से मारने की धमकी देते हुए छोड़ दिया।घर पहुँची बेटी ने सारी बात बताई। दूसरे दिन पीड़िता  के साथ थाने पहुंची और तहरीर दी।पुलिस ने तहरीर के आधार पर  घटना की रिपोर्ट किशोर राहुल और श्रीपाल के खिलाफ दर्ज की। मुकदमे की विवेचना के बाद दोनों के खिलाफ आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल किया गया। कोर्ट में मुकदमे की सुनवाई के दौरान सरकारी वकील उमेश चंद्र गुर्जर  की ओर से पेश किए गए गवाहों के बयान सुनने व बचाव पक्ष के तर्कों को सुनने के बाद अपर सत्र न्यायाधीश ने अभियुक्त श्रीपाल को दोषी पाते हुए आजीवन कारावास व 60 हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया तथा जुर्माने की राशि में से 50 हजार रूपये पीड़ित को क्षतिपूर्ति के रूप में देने के आदेश दिया।वही दूसरे अभियुक्त का मामला किशोर न्यायालय में विचाराधीन है।

अमित कुमार शर्मा 

No comments:

Post a Comment