Tuesday, December 12, 2017

कन्नौज में पसरा आलू सड़क पर जाने क्यों

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज । इत्रनगरी में कोल्ड स्टोरेजों में रखा आलू फेंकना शुरू हो गया। क्षेत्र में सैकड़ों बोरा आलू फेंका गया। सड़कों व खेतों पर पड़े आलू बंटोरने की होड़ मची रही।
नए आलू भंडारण के लिए 30 नवंबर तक सभी कोल्ड खाली करने थे। इधर, दाम कम होने के कारण आलू निकासी कम हुई। दाम से ज्यादा कोल्ड का भाड़ा है। घाटे से बचने के लिए किसानों ने कोल्ड पर आलू पड़ा रहना उचित समझा। इस कारण अधिकांश किसानों ने कोल्ड स्टोरेजों से आलू नहीं उठाया। जिले में 110 कोल्ड स्टोर हैं। 30 नवंबर तक 98 फीसद ही आलू निकासी हो सकी है जबकि आठ फीसद आलू फेंका जाने लगा है। शनिवार रात मानीमऊ क्षेत्र में चोरी-छिपे कई कोल्ड स्टोर से खेतों व सुनसान जगहों पर सैकड़ों बोरा आलू फेंका गया। किसानों ने कोल्ड मालिकों पर नाराजगी जताई। बताया कि नये आलू का भंडारण फरवरी व मार्च में होगा। इससे पहले कोल्ड खाली करना गलत है।
बोले अफसर
फरवरी व मार्च में नये आलू का भंडारण होता है। 30 नवंबर तक सभी कोल्ड खाली करने होते हैं। अब तक 95 फीसद आलू की निकासी हो सकी है जबकि पांच फीसद आलू डंप पड़ा है। किसानों को नुकसान से बचने के लिए कोल्ड मालिक कुछ दिन तक आलू रख सकते हैं।
-समुद्र गुप्त मल्य, जिला उद्यान निरीक्षक।

No comments:

Post a Comment