Sunday, December 3, 2017

फिर निकला आनंद पाल का जिन्न

जयपुर, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की ओर से एक प्रेस कान्फ्रेंस की गई। इस प्रेस काॅन्फ्रेस में सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी, एडवोकेट एपी सिंह आदि उपस्थित रहे। सेना के प्रतिनिधियों ने कहा कि आनंदपाल के प्रकरण में सरकार ने जो वायदा किया था, उसे अभी तक भी पूरा नहीं किया गया है। सरकार को चेतावनी देने के लिए ही 21 दिसम्बर को अजमेर में सभा रखी गई है। इस सभा में प्रदेश भर के राजपूत समाज के लोग उपस्थित रहेंगे। प्रेस काॅन्फ्रेंस में फिल्म पद्मावती का मुद्दा भी उठाया।
सेना के प्रतिनिधियों ने आरोप लगाया कि इस फिल्म के मामले में भी राज्य सरकार को जो गंभीरता दिखानी चाहिए थी वह नहीं दिखाई गई। सरकार के इस रवैये से राजपूत समाज में भारी नाराजगी है। आनंदपाल प्रकरण में जो आंदोलन हुआ उसमें अभी तक भी हजारों युवक जेलों में बंद पड़े हैं। सरकार ने अपने वायदे के मुताबिक दर्ज मुदकमों को भी वापस नहीं लिया है। सेना की ओर से यह दावा किया गया कि राजपूत समाज के आंदोलन में अन्य सामान्य जातियों के प्रतिनिधि भी शामिल हैं। सामान्य जाति के लोग पिछले लम्बे अर्से से मांग कर रहे हैं कि नौकरी के आवेदन के लिए उम्र में वृद्धि की जाए।
लेकिन सरकार ने अभी तक भी इस मांग को पूरा नहीं किया है। उन्होंने कहा कि अजमेर में होने वाले लोकसभा के उपचुनाव में भी समाज की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। हालांकि प्रेस काॅन्फ्रेंस में उपचुनाव में सेना की ओर से उम्मीदवार खड़ा किए जाने की तो कोई बात नहीं कही गई, लेकिन माना जा रहा है कि करणी सेना उपचुनाव में अपना उम्मीदवार खड़ा करेगी और माहौल बनाने के लिए ही 21 दिसम्बर को चेतावनी सभा रखी गई है। इस सभा के माध्यम से करणी सेना अपनी ताकत का प्रदर्शन भी करेगी।

No comments:

Post a Comment