Thursday, December 14, 2017

गन्दगी से मुक्त होगा गोंडा लेकिन कैसे

गोंडा पवन कुमार द्विवेदी /जिला अध्यक्ष आलमीडिया जर्नलिस्ट बेलफेयर एसोसिएशन
गोंडा देश के गन्दे शहर के रूप में जिले पर लगे बदनुमा दाग को मिटाने के लिए विधायक सदर व जिला प्रशासन द्वारा अब बड़े पैमाने पर प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। बुधवार को जिला पंचायत सभागार में स्वच्छता के स्टेट कन्सलटेन्ट आदित्य विद्यासगार द्वारा नव निर्वाचित सभासदों, नगर पालिका के अधिकारियों कर्मचारियों तथा अन्य सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों के साथ पहली बैठक कर शहर को गन्दीग से मुक्त करने तथा स्वच्छता में अच्छी रैंक दिलाने सम्बन्धी रूपरेखा पर गहन चर्चा की गई।बताते चलें कि विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह के विशेष आग्रह पर उत्तर प्रदेश के सहयोग से विशाखापत्तनम से स्वच्छता के स्टेट कन्सलटेन्ट को जनपद गोण्डा के साफ-सफाई में अव्वल बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।आने वाले दिनों में विधायक व जिला प्रशासन के संयुक्त प्रयासों से पूरे शहर में स्वच्छता सम्बन्धी जागरूकता अभियान चलाने के साथ गन्दगी फैलाने वालों के खिलाफ कार्यवाही भी होने जा रही है। इसके अलावा स्वच्छता सर्वेक्षण में आमजनों व्यापारियों व दुकानदारों की भी सहभागिता सुनिश्चित कराई जाएगी। गौरतलब है कि जनवरी माह के प्रथम सप्ताह से स्वचछता सर्वेक्षण कार्य आरम्भ हो जाएगा।इसबार गोण्डा शहर को स्वच्छता में अच्छी रैंकिंग दिलाने के लिए अभी से प्रयास शुरू कर दिए जाएगें।मण्डलायुक्त देवीपाटन मण्डल एस0वी0एस0 रंगाराव ने अपने सम्बोधन में कहा कि हर नगरवासी को स्वच्छता अभियान से जुड़ना पड़ेगा तथा उन्हें भी अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी तभी गोण्डा को स्वच्छ शहर का दर्जा मिल पाएगा।उन्होने कहा कि सरकारी मशीनरी बिना जनसहयोग के स्वच्छता कार्यक्रम को पूरी तरह धरातल पर लागू नहीं कर सकती है। डीएम जेबी सिंह ने कहा कि स्वच्छता अभियान से जब तक लोग नहीं जुड़ेगें तब तक शहर को स्वच्छ नहीं बनाया जा सकता है।उन्होने कहा कि जल्द ही गोण्डा शहर स्वच्छता के मामले में अव्वल होगा तथा डस्टबिन के बजाय जगह-जगह इधर-उधर कूड़े आदि फेंकने वाले लोगों पर जुर्माना लगाया जाएगा।उन्होने शहर के व्यापारियों,दुकानदारों से अपील की है कि सब अपनी-अपनी दुकानों के सामने डस्टबिन अनिवार्य रूप से रखें और कूड़े का निस्तारण सी में करें जिससे शहर साफ-सुथरा रहे।विधायक सदर प्रतीक भूषण सिंह ने अपने उद््बोधन में नवनिर्वाचित सभासदों का आहवान करते हुए कहा कि सभी प्रकार के मतभेदों से इतर सिर्फ गोण्डा को स्वच्छ बनाने और विकास करने के लिए उनका साथ दें।वे निश्चित ही जनसहयोग और जिला प्रशासन के सहयोग से कुछ ही समय में शहर की सूरत बदल देगें।उन्होने नगरवासियों से अपील करते हुए कहा कि वे सब पालीथीन, थर्मोकाॅल के ग्लास,प्लास्टिक प्लेट्स व चम्मच का का उपयोग कतई न करें।गन्दगी एवं प्रदूषण बचाव के लिए घरेलू कचरे को गीला व सूखा दो भागों में रखें तथा उसी के अनुसार अलग अलग निस्तारण करें।कूड़ें का किसी भी दशा में खुले में फेंकने, सड़क के किनारे मल मूत्र त्याग न करने,ओडीएफ कराने में सहयोग करने,अधिक से अधिक पौधे लगाने,कुओं,नदियों, तालाबों व झाीलों में कचरा न डालने और किसी को डालने न देने तथा गोण्डा को स्वच्छ बनाने में सहयोेग प्रदान करने की अपील की।उन्होने कहा कि शहर में जल्द ही माॅडल शौचालय बन जाएगें तथा कूड़ा निस्तारण हेतु सभी आवश्यक उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी।बैठक में पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी रत्नाकर मिश्र,सिटी मजिस्ट्रेट पीडी गुप्ता, सांसद कैसरगंज प्रतिनिधि संजीव सिंह,ईओ नगर पालिका परिषद गोण्डा स्वर्ण सिंह,सभी नवनिर्वाचित सभासदगण, नगरपालिका के कर्मचारी, माध्यमिक व बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment