Friday, December 8, 2017

गरीबों के लिए रब का बन्दा केजरीवाल

नई दिल्ली- दिल्ली में कड़ाके की ठंड और तपती धूप में भी सड़क पर रहने को मजबूर बेघर लोगों के लिए आम आदमी पार्टी (आप) सरकार का नया आइडिया पर काम कर रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार दिल्ली के अंदर खड़ी वीरान बसों को गरीबों के लिए रैन बसेरा में बदल दिया है। सीएम केजरीवाल की दरियादिली का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वे गरीबों और बेसहारा लोगों को दिल्ली की कड़ाके की ठंड से बचाने के लिए जनता से अपील करने में भी पीछे नहीं हट रहे हैं। बता दें कि केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी मजबूर बेघर लोगों के लिए कंबल और बाकी बेसिक सुविधाएं भी मुहैया कराती है। ताकि बेघर लोग कम से कम रात में आराम से सो सकें। सोशल मीडिया के जरिए भी लोगों से अपीलआम आदमी पार्टी ने ​अपने फेसबुक पेज के माध्यम से यह जानकारी लोगों के साथ साझा की। पार्टी ने लिखा कि 'आप' हमेशा से नागरिकों के लिए कम खर्च और नए विचार के साथ उनके दिक्कतों को दूर करना चाहती है। इतना ही नहीं पार्टी गरीबों की मदद के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। दिल्ली में ठंड में खुले में सोने से किसी भी बेघर व्यक्ति की मौत रोकने के प्रयास के तहत सरकार ने कम से कम 19 हजार लोगों के रहने के लिए रैन बसेरों और तंबुओं का इंतजाम किया है। पार्टी इस बात पर जोर दे रही है कि ठंडी रातों में खुले में सोने से किसी भी व्यक्ति की मौत न हो। पार्टी का एक ही उद्देश्य है कि हम सबको इस दिशा में प्रयास करने की जरूरत है।गौरतलब है कि दिल्ली के शहरी विकास मंत्री मनीष सिसौदिया ने बताया था कि उनके सर्वे के अनुसार दिल्ली में कुल 212 जगहों पर 4018 लोग खुले में सोते हैं। इसलिए सरकार ने 100 नए रैन बसेरे बनाने का फैसला लिया था।सोशल मीडिया में हो रही तारीफ- लोग सीएम के इस सराहनीय कार्य की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

No comments:

Post a Comment