Sunday, December 24, 2017

किसान दिवस पर किसानों को मिला सम्मान

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज। पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चैधरी चरण सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी रविन्द कुमार ने आज शानिवार को कलेक्ट्रट परिसर में पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चैधरी चरण सिंह के जन्मोत्सव पर किसान गोष्ठी का शुभारंम्भ उनकी फोटो पर माल्यार्पण कर व जिलाधिकारी के निर्देशानुसार मुख्य विकास अधिकारी अवधेश बहादुर सिंह ने दीप प्रज्वलन कर उन्होने मेले में लगे पडांलो का निरीक्षण करते हुये विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों में उपलब्ध किसानों को जानकारी देते हुये कृषि उत्पादन में उपकरण व वैज्ञानिक सहायता से कृषि बीजों की उन्नति किस्मों का प्रयोग कर खेती करने के लिये किसानों को प्रेरित किया। उन्होने कहा कि देश का विकास किसानों के विकास पर आधारित है। सर्वेक्षण के दौरान कृषि विभाग द्वारा लगाये गये स्टाॅल में गेंहू की कई किस्मों को परखा व फाउडेशन द्वारा मसरूम की खेती के बारे में उनमें लगने वाले रोगों के बारें में जानकारी देते हुये। उन्होने ने सभी किसानों को मसरूम की खेती में कम रकम लगाकर ज्यादा लाभ कमाया जा सकता है। किसान गोष्ठी में मत्स्य विभाग, पशुपालन विभाग, उद्यान एवं खाद्य प्रस्संकरण विभाग, कृषि विभाग, भूमि सुधार निगम, व अन्य विभागों द्वारा स्टाल लगाकर कृषकों को अनेकों लाभप्रद जानकारियां उपलब्ध कराई है। इस अवसर पर विकास खण्ड स्तर पर सर्वाधिक उत्पादन करने वाले किसानांे को व अन्य किसानों को ेसहायता प्रदान करने वाले 72 कृषकों को सम्मानित मुख्य विकास अधिकारी द्वारा किया। इस अवसर पवर कृषि वैज्ञानिक श्री विनोद, श्री बी0के कनौजिया, आदि ने कृषकों को रबी की खेती किस प्रकार अच्छे ढंग से की जाये व उसमे होने वाले फर्टिलाइजर, हर्बीसाईड, खाद सुपर फास्फेट के समुचित प्रयोग जाने हेतु व उससे होने वाली हानियों के बारे में अवगत कराया उन्होने यह भी बताया कि विश्व कैंसर रिसर्च इंस्टीटयूट द्वारा एक खोज के जरिये यह बताया गया है कि अत्यधिक प्रयोग होने वाले ग्लाईफोसेट व राउण्डअप के प्रयोग से कैंसर से होने का खतरा सर्वाधिक होता है। इसलिये कृषि वैज्ञानिकों ने इसके उपयोग में सतर्कता बरतने की बात कही। इस अवसर पर उपकृषि निदेशक डा0 राजेेश कुमार द्वारा कृषकों को धान, सरसों व गेंहूॅ की उन्नत किस्मों का प्रयोग करके अपनी पैदावार बढाने व केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान के बारे में जानकारी प्रदान की। उद्यान विभाग द्वारा सिचाई के नये व कम लागत में अच्छी सिचाई प्रदान करने वाले उपकरणों के बारे में जानकारी से कृषकों को लाभान्वित किया गया। गोष्ठी में जिला कृषि अधिकारी, जिला उद्यान अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, कृषि वैज्ञानिक, भूमि संरक्षण अधिकारी, समस्त कृषक व अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहें

No comments:

Post a Comment