Sunday, December 31, 2017

काम मे लापरवाही बर्दाश्त नही-मण्डलायुक्त

गोंडा पवन कुमार द्विवेदी /जिला अध्यक्ष आलमीडिया जर्नलिस्ट बेलफेयर एसोसिएशन
मंडलायुक्त ने जननी सुरक्षा योजना भुगतान में लापरवाही पर सीएमओ गोण्डा व बहराइच से स्पष्टीकरण तलबमण्डलायुक्त एस0वी0एस0 रंगाराव ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में मण्डल में गृह आधारित नवजात भ्रमण कार्यक्रम में उत्कृृष्ट कार्य करने वाल अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया तथा जननी सुरक्षा योजना के तहत भुगतान में फिसड्डी रहने पर सीएओ गोण्डा व सीएमओ बहराइच से स्पष्टीकरण भी तलब किया है।शनिवार को आयुक्त सभागार में स्वास्थ्य सेवाओं में सहयोगी पाटनर्स की मीटिंग में ज्ञात हुआ कि जनपद गोण्डा प्रदेश का पहला ऐसा जनपद बन गया है जहंा पर गृह आधारित नवजात भ्रमण कार्यक्रम में एक माह के भीतर पांच सौ से अधिक बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण उनके घर पर जाकर किया गया। लक्ष्य से अधिक कार्य कराने वाले जनपद गोण्डा के जिला स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी डा0 देवेन्द्र श्रीवास्तव तथा डीसीपीएम डा0 आर0पी0 सिंह को मण्डलायुक्त ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं जननी सुरक्षा योजना के तहत जनपद गोण्डा में मात्र 79 प्रतिशत तथा बहराइच में 79.4 प्रतिशत भुगतान किए जाने पर दोनों जिलों के मुख्य चिकित्साधिकारियों से स्पष्टीकरण तलब किया गया है। समीक्षा में ाात हअुा कि जनपद गोण्डा में अभी भी 7616 तथा बहराइच में 8934 लाभर्थियों का भुगतान नहीं किया गया है। मण्डलायुक्त ने एक सप्ताह के भीतर भुगतान सुनिश्चित कराकर रिर्पोअ देने के निर्देश एडी हेल्थ को दिए हैं। प्राइवेट हेल्थ फोरम मीट के तहत आयोजित बैठक में आयुक्त ने स्वास्थ्य सेवाओं में सहयोग प्रदान करने वाली संस्थाओं तथा चारों जनपदों के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं की गहन समीखा की। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में फिसड््डी रहने पर सीएमओ बहराइच व बलरामपुर को फटकार लगाते हुए आयुक्त ने सुधार के निर्देश दिए हैं। परिवार कल्याण कार्यक्रमों में खराब रैंकिग पर जनपद गोण्डा व बलरामपुर को सुधार हेतु निर्देश दिए हैं। मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के तहत दिए जाने वाले नई पहल किट को तत्काल क्रय कराकर बंटवाने के निर्देश दिए हैं।  सघन मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम के तहत निर्देश दिए कि जिन मजरों में अभियान प्रभावी एंग से नहीं चख्लाया जा सका है पर प्रत्येक मजरे में एक-एक बालेन्टियर नियुक्त करें तथा उसका रजिस्टर में नाम दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा विभिन्न स्वास्थ्य पार्टनर्स द्वारा दी गई कार्यक्रमों की रिपोर्ट पर आयुक्त ने एडी हेल्थ को सुधार कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होने कहा कि प्रत्येक दशा में सभी स्वास्थ्य कार्यक्रमों को जनता तक पहुंचाया जाय तथा इसमें किसी भी स्तर पर कोताही बरतने वाले अधिकारियों को चिन्हित कर कार्यवाही की जाय। बैठक में अपर निदेशक स्वास्थ्य देवीपाटन मण्डल डा0 सतीश कुमार, चारों जनपदों के सीएमओ, डा0 साकेत शुक्ला, डा0 आलमगीर, अन्य एसीएमओ, डा0 देवेन्द्र श्रीवास्त, डा0 आर0पी0 सिंह, मोव नाजिम, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी पण्डरीकृृपाल प्रदीप पाण्डेय, इकौना, श्रावस्ती व गैंड़ासबुजुर्ग के स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी व अन्य जनपदों के अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment