Tuesday, December 12, 2017

खुले पड़े ट्रांसफार्मर देते दुर्घटनाओं को दावत

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति
कन्नौज  । बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने लापरवाही की सारी हदें लांघ दी। सड़क किनारे खुले में ट्रांसफॉर्मर रखे हुए हैं, जो यमदूत का काम कर रहे हैं। खुले में रखे ट्रांसफॉर्मरों से चिपक कर कई बार जानवरों की मौत हो चुकी है। कोई बच्चा या व्यक्ति इसकी चपेट में आ जाए तो आश्चर्य की बात नहीं होगी। खासकर तिर्वा रोड स्थित गोल कुआं चैराहे पर खुले में रखे ट्रांसफॉर्मर से किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है।
इत्रनगरी के कई मोहल्लों में ट्रांसफॉर्मर सड़क के किनारे रखे हैं। जाल न होने के कारण आए दिन जानवर इससे चिपक कर जान गवां देते हैं। ट्रांसफॉर्मर की ऊंचाई कम होने के कारण जानवर यहां आसानी से पहुंच जाते हैं। बिजली विभाग के अधिकारी ट्रांसफॉर्मर के बाहर जाल लगाने में असमर्थ हैं। इस रास्ते से गुजरने वाले छोटे-छोटे बच्चे भी सुरक्षित नहीं है। कभी भी कोई हादसा होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। रास्ते से स्कूली बच्चे निकलते हैं। इस दौरान ट्रांसफॉर्मर से धुंआ निकलने या स्पार्किंग होने पर वह सहम जाते हैं। खेल-खेल में बच्चों को यह जानने की इच्छा प्रबल हो जाती है कि आखिर धुंआ ट्रांसफॉर्मर में कहा से निकल रहा है। इस जिज्ञासा को शांत करने के प्रयास में किसी भी दिन बच्चों के साथ हादसा हो सकता है। खासकर तिर्वा रोड स्थित गोल कुआं चैराहा पर रखा ट्रांसफॉर्मर हादसे को दावत देर रहा है। यहां ट्रांसफॉर्मर के पास ही ठेले समेत फुटपाथी दुकानदार अपनी दुकानें लगाकर दुकानदारी कर रहे हैं। बिजली विभाग ने इस ओर ध्यान न दिया तो कभी भी बड़ा हादसा होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। और शहर के विभिन्न मोहल्लों में जर्जर तार में लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं।

No comments:

Post a Comment