Wednesday, December 13, 2017

क्या अबला नारी की पुकार सुनेगी सरकार

भाजपा के मेयर नवीन जैन और नवनिर्वाचित पार्षदों ने मंगलवार सुबह आगरा कॉलेज आगरा मैदान में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा की मौजूदगी में शपथ ग्रहण की शपथ ग्रहण समारोह को लेकर सुबह से ही बीते हुए पार्षदों एवं खासतौर से भाजपाई उत्साहित देखें कमिश्नर ने राममोहन राय ने मेयर नवीन जैन की शपथ ग्रहण करा रहे थे समारोह में हजारों की संख्या में लोग शिरकत करने पहुंचे और दूसरी तरफ अपनी फरियाद को लेकर अबला नारी मीन एसएसपी साहब कार्यालय से लेकर थानों की चौखट पर माथा टेक रही थी  लेकिन  सारे अधिकारी  डिप्टी सीएम  की सेवा और मेयर की ताजपोशी  मैं लगे थे वही  इसी दिन  शहीद स्मारक  संजय पैलेस  मैं  अन्ना हजारे भ्रष्टाचार  के प्रति  भाषण दे रहे थे पीड़िता मीनू दिवाकर हाथ में अन्ना हजारे जी से अबला नारी की पुकार योगी सरकार में पुलिस नहीं सुन रही फरियाद लगी अनशन का पत्र हाथ में था मैं आंसू बहा रही थी और आगरा की चौथा स्तंभ मीडिया का जमावड़ा लगा हुआ था वही मीडिया कर्मी के कैमरों के फ्लेक्स भी अवला के आंसुओं को कैमरे में याद करने से दी रोक नहीं पा रही थी वही अन्ना हजारे सहयोगी  वाह वाह  लूटने में लगे थे  लेकिन बिचारी एक आंवला की तरफ  ना तो किसी  ने ध्यान दिया  और ना ही  भ्रष्टाचार के ऊपर भाषण  देने वाले  अन्ना हजारे ने  एक पल  भी  मुड़ कर नदेखा  हां  एक  अन्ना हजारे कार्यकर्ता ने  अबला के प्रति  मेहरबानी जरूर कर दी कि एक पुलिस  इस्पेक्टर  थाना हरीपर्वत  जेकरण सिंह को  बुला लिया और  इंस्पेक्टर ने भी  अपनी  पुलिस  विभाग  की नाकामियां छुपाने के लिए मीनू दिवाकर पीड़िता अन्ना हजारे से मिलाने का  प्रलोभन देकर थाना हरीपर्वत  ले जाकर  बैठा  जरूर दिया  लेकिन फरियाद नहीं सुनी  और शाम को क्षेत्राधिकारी  से मिलवाकर  कार्रवाई का  भरोसा देकर  शाम को  थाने से  चंपत कर दिया और अपनी  सरकार के प्रति वफादारी का परिचय दे दिया  वही  एक तरफ योगी सरकार  महिलाओं के हित  और सम्मान की बातें करती है  और दूसरी तरफ  अन्ना हजारे  भ्रष्टाचार  का भाषण देकर  जनता को गुमराह कर  वाहवाही लूट रहे हैं लेकिन हकीकत इन दोनों कि सामने हैं योगी सरकार मैं महिलाओं का कितना सम्मान है यह लोग बखूबी जानते हैं जिसका ताजा उदाहरण है की एक तरफ आगरा पुलिस नारी सुरक्षा सप्ताह मना रही पुलिस पत्नी पर जानलेवा हमले में वांछित स्पा सेंटर संचालक को एक माह बाद भी गिरफ्तार नहीं कर सकी थी। शनिवार रात को दोबारा हमला करने वाले आरोपी को पत्नी ने दबोचने के बाद पुलिस को सौंप दिया था । मगर पुलिस की दलील है कि आरोपी पति के पास गिरफ्तारी के खिलाफ स्टे है। इसलिए उसे पुलिस हिरासत में नहीं रखा गया और जब आरोपी को पुलिस से छोड़ा गया तो हमलावर स्पा सेंटर संचालक राकेश सिकरवार ने अपनी पत्नी मीनू पर एक बार फिर हमला बोल दिया।न केवल हमला बोला बल्की स्पा सेंटर संचालक राकेश सिकरवार उसके भाई और उसके दोस्तों ने पीड़िता मीनू पर हथियार तान दिया और उसकी हत्या करने की कोशिश की गई । गनीमत रही कि फायर मिस हो गया जिससे उसकी जान बच गई।आपको बताते चलें कि 27 अक्टूबर को अपने पति के स्पा सेंटर पहुंची थी। पत्नी मीनू ने पति को एक युवती के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देखा था। विरोध करने पर पति और अन्य लोगो ने हमला बोलकर मीनू को लहूलुहान कर दिया । जिसमें मीनू ने पति समेत कई लोगों पर ताजगंज थाने में जानलेवा हमला सहित कई धाराओं में मुकदमा भी दर्ज कराया था।मीनू का आरोप है कि बसई चौकी इंचार्ज आरोपियों से मिले हुए हैं । यही वजह है कि मुख्य आरोपी राकेश सिकरवार की गिरफ्तारी नहीं हो रही थी । मगर शनिवार की रात को अपने केस की पैरवी के मामले में बसई चौकी से लौट रही मीनू पर स्पा सेंटर के संचालक राकेश अग्रवाल सहित कई लोगों ने उसे रोक लिया और बाइक से पीछा करके उसे जान से मारने की नीयत से फ़ायर किया गया । जिसकी शिकायत थाना ताजगंज से लेकर एसएसपी आगरा अमित पाठक सहित शासन प्रशासन के यहां करने के बावजूद नतीजा ढाक के तीन पात ही निकला अब सवाल यह उठता है कि योगी सरकार सुनेगी आंवला की पुकार आगरा पुलिस किस कदर है महिलाओं के साथ व्यवहार करती है किस व्यवहार के कारण आंवला महिलाएं आंसू बहाने को मजबूर हुए रही है उन्हें योगी सरकार की पुलिस और अन्ना हजारे जैसे भाषण देने वाले नेताओं को कोसने के सिवा और कुछ नहीं सूझ रहा

No comments:

Post a Comment