Tuesday, December 5, 2017

राजस्थान की सरकार ने दी सौगात

राजस्थान सरकार अपने चार साल के कार्यकाल की उपलब्धियां गिना रही है. इसी कड़ी में सोमवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल ने प्रदेश को सौगात दी है.उन्होंने महिला अधिकारिता विभाग में महिला अधिकारिता पर्यवेक्षक के 295 पदों, महिला पर्यवेक्षक के 221 पदों एवं संरक्षण अधिकारियों के 33 पदों पर सीधी भर्ती किए जाने की घोषणा की है.महिला अधिकारिता विभाग का वर्ष 2012-13 में बजट प्रावधान 91.92 करोड़ रुपए था उसे वर्ष 2017-18 में तीन गुना करते हुए 288.74 करोड़ रुपए कर दिया है. ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए ब्लॉक स्तर पर 'महिला शक्ति केन्द्र' बनाए की जाने की घोषणा की हैमंत्री भदेल ने प्रदेश में गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व और प्रसव के पश्चात आर्थिक सहायता देने के लिए तथा शिशु टीकाकरण को प्रोत्साहन देने के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना इसी माह से लागू की जाने की घोषणा की है. इस योजना के अन्तर्गत परिवार में प्रथम डिलीवरी पर गर्भकाल के पहले 6 माह में प्रथम किस्त 1000 रुपए, गर्भकाल में अन्तिम त्रैमास में 2000 रुपए एवं शिशु जन्म के पश्चात् टीकाकरण आदि होने के पश्चात 2000 रुपए बैंक खाते में भुगतान किए जाएंगे.मंत्री भदेल ने इसके साथ ही एक और महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए बताया कि चालू वित्तीय वर्ष में राज्य में 'आदर्श आंगनबाड़ी अभियान' प्रारम्भ किया जाएगा. जिसमें प्रत्येक परियोजना में न्यूनतम 5 केन्द्रों को आदर्श के रूप में विकसित किया जाएगा.महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ने सरकार के 4 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में महिला एवं बाल विभाग की उपलब्धियों तथा विभागीय योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि महिलाओं और बालक-बालिकाओं से जुड़ी अनेक योजनाओं और नवाचारों से राज्य में सकारात्मक बदलाव आया है.
राजस्थान व्यूरो

No comments:

Post a Comment