Friday, January 12, 2018

मुख्तार अंसारी खतरे से बाहर पत्नी डिस्चार्ज

लखनऊ मंडल कारागार में पत्नी और बेटों से मुलाकात के दौरान बसपा के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को मंगलवार को दिल का दौरा पड़ गया। पति की खराब हालत देख पत्नी अफ्शां अंसारी भी बेहोश हो गईं। बांदा जिला अस्पताल में करीब ढाई घंटे तक प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को एंबुलेंस से शाम करीब सात बजे पीजीआई लाया गया। दोनों को कार्डियोलॉजी विभाग के एमआईसीयू वार्ड में भर्ती किया गया।
पत्नी को डिस्चार्ज कर दिया गया है जबकि मुख्तार की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। इस मामले में प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने बांदा के जिलाधिकारी और एसपी से जॉइंट रिपोर्ट मांगी है।गाजीपुर निवासी और मऊ सदर से बसपा विधायक मुख्तार अंसारी मंडल कारागार में 20 मार्च-17 से निरुद्ध हैं। मंगलवार को उनकी पत्नी अफ्शां, पुत्र अब्बास और उमर अंसारी जेल में मिलने आए थे। वहां चाय पीने के कुछ देर बाद ही मुख्तार बेहोश होकर गिर पड़े। यह देख अफ्शां भी बेसुध हो गईं। मुख्तार को पसीने के साथ सीने में दर्द की शिकायत हो रही थी। पीजीआई के एमआईसीयू वार्ड में बेड नंबर 14 पर भर्ती मुख्तार का इलाज कर रहे प्रो. पीके गोयल ने कहा कि उनकी हालत पर लगातार नजर रखी जा रही है।पीजीआई निदेशक राकेश कपूर ने मीडिया से बातचीत में बताया, ‘मुख्तार अंसारी को माइनर हार्ट अटैक आया था, लेकिन उनकी हालत स्थिर है। एंजियोग्राफी और ईसीजी नॉर्मल है। ट्रॉपोनिन एंजाइम मामूली सा बढ़ा है। ऐसा माइनर हार्ट अटैक में होता है। बुधवार को कुछ और जांचें की जाएंगी। उनकी पत्नी उनकी हालत देखकर घबरा गईं थी, उनकी हालत ठीक है, उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है।’

No comments:

Post a Comment