Wednesday, January 17, 2018

तोगड़िया के निकले आंशु तो अस्पताल में लगा मोदी विरोधियों का जमावड़ा

सोमवार को करीब 11 घंटे तक गायब रहे विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया ने एक दिन बाद मीडिया के सामने अपनी बात रखी। इस दौरान वह भावुक हो गए और उनका गला भी भर आया। सोमवार देर शाम बेहोश हालत में मिले तोगड़िया ने कहा कि उनके एनकाउंटर की साजिश हो रही है। उन्होंने आरोप लगाया, 'मेरी आवाज को दबाने की कोशिश हो रही है। मैं किसी से डर नहीं रहा हूं, लेकिन मुझे डराने की कोशिश हो रही है।'माना जा रहा है कि तोगड़िया ने पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। वह इससे पहले भी केंद्र सरकार के खिलाफ बोलते रहे हैं। मंगलवार को तोगड़िया के भावुक होते ही अस्पताल में उनसे मिलने कुछ खास लोग पहुंचे। इसमें मोदी विरोधी खास तौर पर मौजूद रहे।गुजरात में पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल उनसे मिलने पहुंचे। मुलाकात के बाद हार्दिक ने कहा कि तोगड़िया के खिलाफ राजनीतिक साजिश हो रही है। उन्हें राम मंदिर, किसानों और युवाओं के मुद्दों पर बोलने के लिए निशाना बनाया जा रहा है। वह तोगड़िया की राजनीति से सहमत नहीं हैं, पर उनका सम्मान करते हैं। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि तोगड़िया के खिलाफ पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह साजिश रच रहे हैं।गुजरात के पूर्व डीजीपी डीजी वंजारा भी प्रवीण तोगड़िया से मिलने पहुंचे। डीजी वंजारा ने कहा, 'मेरे तोगड़िया के साथ काफी पुराने दोस्ताना संबंध रहे हैं। जब मुझे पता चला कि वह अस्पताल में भर्ती हैं तो मैं उन्हें देखने चला आया।' हालांकि, उन्होंने कहा कि उनके यहां आने का दूसरा कोई मकसद नहीं है, पर उनकी इस मुलाकात को राजनीतिक चश्मे से भी देखा जा रहा है और राजनीति में बिना मकसद के कोई काम नहीं होता।इन दोनों के अलावा कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने भी तोगड़िया से मुलाकात की। आपको बता दें कि मोढवाडिया ने ही हाल में गुजरात में हुए विधानसभा चुनावों में ईवीएम मशीन के ब्लूटूथ से कनेक्ट होने का शक जाताया था और चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की थी।

No comments:

Post a Comment