Saturday, January 20, 2018

आखिर कैसे लगेगा लाउडस्पीकर बजने पर प्रतिबंध जब कि

कन्नौज ब्यूरो पवन कुशवाहा के साथ आलोक प्रजापति

कन्नौज। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर धार्मिक स्थलों पर बजने वाले ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर रोक लगाने और फिर अनुमति देने का अंतिम समय 15 जनवरी निर्धारित किया गया था। साथ ही जुलूस व शादी-ब्याह में बजने वाले ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर भी प्रभावी कार्रवाई किए जाने का सख्त निर्देश था लेकिन अभी तक केवल आवेदन पत्र एकत्र किया जा रहा है। बाकी जिम्मेदारी थानाध्यक्षों के हवाले हैं।जिले की तीनों तहसीलों की करें तो अभी उप जिलाधिकारी द्वारा अनुमति के लिए आवेदन पत्र एकत्र किया जा रहा है। कुछ को अनुमति दी जा रही है तो कई धार्मिक स्थलों के प्रबंधक अपने से ही लाउडस्पीकर बंद कर दिए हैं। खास बात यह है कि किसी भी उप जिलाधिकारी के पास अब तक आंकड़ा इस बात का नहीं हैं कि उनके तहसील क्षेत्र में कितने धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर लगे हैं और कितने बंद कराए गए। अभी इसका डाटा कलेक्ट करने की जिम्मेदारी केवल संबंधित थानाध्यक्षों को दी गई है।इसलिए कितने धार्मिक स्थल चिह्नित किए गए, कितनों के लाउडस्पीकर बंद हुए और कितने को अनुमति दी गई, इसका आंकड़ा अभी एकत्र किया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment