Thursday, January 25, 2018

उत्तर प्रदेश में मनाया गया स्थापना दिवस

गोंडा पवन कुमार द्विवेदी उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस को उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में भव्यता के साथ मनाया गया। मुख्य कार्यक्रम जिला पंचायत सभागार में आयोजित हुआ। इस अवसर पर जनपद के प्रभारी मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने विभिन्न विभागों की 2995.47 लाख रूपए कीे लागत के 42 कार्यों का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया।उत्तर प्रदेश दिवस के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि पहंुंचे प्रभारी मंत्री ने जिला पंचायत सभागार में दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का शुभारम्भ किया। स्वागत कार्यक्रम के उपरान्त प्रभारी मंत्री ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकार सबका साथ सबका विकास और संकल्प से सिद्धि तक के नारे के साथ जन-जन के विकास के लिए कार्य कर रही है। सरकार द्वारा भ्रष्टाचारमुक्त, अपराधमुक्त, जातिवाद और सम्प्रदायवाद से मुक्त शासन दिए जाने के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के गौरवशाली इतिहास और स्थापना दिवस को पहली बार वर्तमान सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में मनाया जा रहा है यह बड़े ही गर्व की बात है। इस अवसर पर उन्होने कहा कि आजादी के सत्तर वर्षों बाद भी आज हमारा प्रदेश पिछड़ा हुआ कहा जाता है। आज भी सभी लोगों को बुनियादी सुविधाएं नहीं मिल सकी हैं। सरकार इस दिशा में तेजी से कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि सरकार की योजनाएं जब हर पात्र और जन-जन तक पहुंचेगीं तभी सरकार के संकल्प से सिद्धि का सपना साकार होगा।   इससे पूर्व जिलाधिकारी जेबी सिंह ने स्वागत भाषण में उत्तर प्रदेश की स्थापना एवं इतिहास पर संक्षिप्त प्रकाश डाला एवं आए हुए अतिथियों का स्वागत किया। शिलान्यास एवं लोकार्पण कराए गए कार्यों का विस्तृृत विवरण देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश दिवस के अवसर पर कुल 42 कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया जा रहा है जिसमें लोकार्पित किए गए कार्यो में विद्युत विभाग 170 लाख रूपए, मण्डी परिषद 1270.91 लाख रूपए, जिला पंचायत 55.18 लाख रूपए तथा पुलिस विभाग के 354.06 लाख रूपए के कार्य शामिल है। इसी प्रकार शिलान्यास किए गए कार्यों में मण्डी परिषद के 76.65 लाख रूपए, कृषि विभाग के 171.18 लाख रूपए, लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड 123.46 लाख रूपए, लोक निर्माण विभाग खण्ड-एक अन्तर्गत 114.88 लाख रूपए, लोक निर्माण विभाग खण्ड अन्तर्गत 13.89 लाख रूपए, नगर पालिका परिषद गोण्डा अन्तर्गत 500.27 लाख रूपए तथा जिला पंचायत अन्तर्गत 145 लाख रूपए के कार्यों का शिलान्यास किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि लगभग तीस करोड़ रूपए की लागत कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया है। समारोह के दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष पीयूष मिश्र ने कहा कि सरकार पन्डित दीन दयाल उपाध्याय जी के अन्त्योदय के सपने का पूरा करने के लिए सरकार हर प्रकार के निर्णय ले रही है और निश्चित ही आने वाले दिनो में इसके सकारात्मक परिणाम नजर आएगें। विधायक तरबगंज प्रेम नरायण पाण्डेय ने उत्तर प्रदेश दिवस की बधाई देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश दिवस का आयोजन प्रदेश सरकार का ऐतिहासिक निर्णय है। इससे पूर्व कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए लेखक डा0 सूर्यपाल सिंह, वरिष्ठ पत्रकार एवं शिक्षक डा0 एस0पी0मिश्र, वरिष्ठ पत्रकार जानकी शरण द्विवेदी, पूर्व विधायक तुलसीदास राय चन्दानी, लेखिका डा0 उमा सिंह ने उत्तर प्रदेश एवं गोण्डा के इतिहास और वर्तमान में गोण्डा जनपद की विकास एवं अन्य क्षेत्रोें में स्थिति पर गम्भीर विचार प्रस्तुत किए गए। सामरोह के दौरान अनाम संस्था व सरयू कन्या पाठशाला की छात्राओं द्वारा संास्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ अधिवक्ता एवं समाज सेवी के0के0 श्रीवासतव ने किया।समारोह के दौरान देवीपाटन मण्डल के आयुक्त एस0वी0एस0 रंगाराव, डीआईजी अनिल कुमार राय, पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह, सीडीओ दिव्या मित्तल, विधायक मेहनौन विनय द्विवेदी, विधायक तरबगंज प्रेम नरायन पाण्डेय, भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य सूर्य नरायण तिवारी एवं श्ेाष नरायन मिश्र, अपर जिलाधिकारी रत्नाकर मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक हृृदेश कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट अपीडी गुप्ता, अपर उपजिलाधिकारी सौरभ भट््ट व मायाशंकर यादव, सांसद गोण्डा प्रतिनिधि रमाशंकर मिश्र, डीपीआरओ घनश्याम सागर, डीडी एग्रीकल्चार मुकुल तिवारी, जिला कृषि अधिकारी विनय सिंह, एक्सईएन विद्युत अशोक यादव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। इस तरह का स्थापना दिवस मनाना अपने आप मे अभूतपूर्व है ।लेकिन यहाॅ एक बात सोचने पर मजबूर करती है कि सदर बिधायक सहित कटरा बिधायक ,गौरा विधायक ,कर्नलगंज बिधायक व मंत्री रमापति शास्त्री की उपस्थिति न होने से पूरे कार्यक्रम पर एक प्रश्न चिन्ह लगना स्वाभाविक है ।वही सदर विधायक की अनुपस्थित उपस्थित लोगो के मन मे कई तरह के सवाल उत्पन्न कर रही है ।जहाॅ एक तरफ इतना बड़ा कार्यक्रम हो रहा था इससे बड़ा तौहीनी और क्या होगी ये हर गोंडा वासी के मन मे एक सवाल पैदा करती है ।छोटे छोटे कार्यक्रम मे उपस्थित रहने वाले बिधायक इतने बड़े कार्यक्रम मे अनुपस्थित रहे ,इस पर सरकार को इनके अनुपस्थित के कारणो को जानना चाहिए अगर सरकार इस मुद्दे को छोटा समझ रही है तो भविष्य मे इसके गंभीर परिणाम भी भुगतने पड सकते है ।

No comments:

Post a Comment