Saturday, January 6, 2018

हरियाणा के कृषि मंत्री धनखड़ ने सुरु करवाया मधुमक्खी पालन सेंटर

रोहतककृषि एवं ग्रामीण विकास पंचायत मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने के लिए कुरूक्षेत्र के गांव रामनगर में इजराइल के सहयोग से एक्सीलेंट सेंटर शुरू किया गया है। इस केंद्र में शहद की जांच करने के अलावा मक्खी के जहर से दवाई बनाने की प्रक्रिया भी शुरू की गई है। इसलिए बेरोजगार युवाओं को मधुमक्खी पालन व्यवसाय अपनाने के लिए इस केंद्र का दौरा कर आवश्यक जानकारी लेनी चाहिए। ताकि वे इस व्यवसाय को भलि-भांति शुरू करके आर्थिक रूप से समृद्ध बन सकें। पंचायत एवं विकास मंत्री आज स्थानीय जिला ग्रामीण विकास अभिकरण के सभागार में आयोजित जिला लोक सम्पर्क एवं परिवेदना समिति की बैठक में महम के बलजीत सिंह की शिकायत की सुनवाई कर रहे थे। उन्होंने बैंक अधिकारियों को कहा कि वे प्रार्थी को मुद्रा ऋण योजना के तहत एक सप्ताह में ऋण प्रदान करें। बहुअकबरपुर निवासी सैनिक के भाई राजेश के परिवाद की सुनवाई करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि पीजीआई में रोगियों को कितने समय में अटेंड किया जा रहा है इस बारे आवश्यक जानकारी देनी चाहिए। इस पर पीजीआई के चिकित्सक ने बताया कि संस्थान द्वारा सीधे आते ही रोगी की जांच की जाती है, इसके अलावा रोगी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए भी त्वरित कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं में और अधिक सुधार करने की आवश्यकता है, ताकि रोगियों को बेहतर सुविधाएं मिल सकें। न्यूनतम समय में रोगी को अच्छी चिकित्सा मिलें, इसके लिए अथक प्रयास किये जाए। बैठक में कैलाश कॉलोनी के विजय कुमार के परिवाद की सुनवार्ई करते हुए उन्होंने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी को ये निर्देश दिए कि वे शीघ्र ही प्रार्थी की पेमेंट का भुगतान करें। प्रार्थी ने मैचिंग ग्रांट के तहत महारानी किशोरी जाट कन्या महाविद्यालय में छह कमरों का निर्माण कार्य लेबर रेट पर लिया था। एक अन्य मामलें में लाखनमाजरा निवासियों की शिकायत सुनते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि पेयजल लाईन में फरूल लगाने से लोगों को पेयजल सप्लाई में नई समस्या पैदा हो गई है। इसलिए जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पानी की बेहतर सप्लाई सुनिश्चित करें। लाखनमाजरा निवासी ओमप्रकाश की शिकायत पर कृषि मंत्री ने कहा कि ओमप्रकाश के नाम आवेदन करने की बजाय मृतक की पत्नी के नाम आवेदन करवाकर राजीव गांधी बीमा योजना का लाभ प्रदान किया जाए। 
परिवेदना समिति की बैठक में कुल दस परिवाद रखे गए। इनमें से आठ परिवादों का सुनवाई के बाद मौके पर ही निपटारा किया गया। शेष एक परिवाद पीजीआई की रिपोर्ट आने तक लङ्क्षबत रखा गया तथा गिरवड़ निवासी बलबीर सिंह का परिवाद न्यायालय में विचाराधीश होने के कारण सुनवाई नहीं की जा सकी। बल्लम निवासी विनोद कुमारी के दूरभाष पर कृषि मंत्री ने सम्पर्क स्थापित कर विवाद का निपटारा होने बारे पूछा। इस पर प्रार्थी ने मंत्री को समस्या का समाधान होने की हामी भरी। 

No comments:

Post a Comment