Monday, January 29, 2018

मुम्बई MRI मशीन में फंसने से मरीज की मौत

मुंबई के सरकारी नायर हॉस्पिटल से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां के स्टाफ की लापरवाही से एक शख्स की जान चली गई। 32 साल के राजेश मारू की मौत एमआरआई मशीन में फंसने की वजह से हो गई।जानकारी के मुताबिक राजेश 27 जनवरी को अपने एक रिश्तेदार की एमआरआई के लिए हॉस्पिटल गए हुए थे। राजेश को MRI रूम में एक मेटल के ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ जाने दिया।राजेश के परिजनों का आरोप है कि एमआरआई मशीन में मेटल की चीजें प्रतिबंध हैं लेकिन मशीन के मैग्नेटिक फोर्स की वजह से वे मशीन के अंदर खिंचता चला गया।जिस वार्ड ब्वॉय ने मारू को सिलेंडर ले जाने के लिए कहा था उसे संस्पेंड कर दिया गया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने पीड़ित के परिवार वालों को 5 लाख का मुआवजा देने का ऐलान किया है।राजेश के परिजन बीजेपी विधायक एमपी लोढ़ा के साथ अस्पताल के डीन के केबिन में ही धरना दे रहे हैं। ताकि दोषियो के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके।मारू के एक रिश्तेदार नाराभाई जीतिया ने बताया कि हमारे लिए यकीन करना बहुत मुश्किल था कि हॉस्पिटल की लापरवाही की वजह से राजेश की मौत हो चुकी है। वहां पर ऐसा कोई नहीं था जो यह बता सके कि राजेश को ऑक्सीजन सिलेंडर एमआरआई रूम में नहीं ले जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह डॉक्टर्स और टेक्नीशियन की ड्यूटी होनी चाहिए हॉ़स्पिटल में कैसी सावधानी बरतनी चाहिए। उन्होंने आगे बताया कि जब मारू को कमरे में बुलाया गया तब MRI मशीन चालू था। जैसे ही उसने कमरे में एंट्री की, मशीन ने तेजी से उसे खींच लिया। दो मिनट में उसकी मौत हो गई। तब से अभी तक हॉस्पिटल प्रशासन के किसी भी सदस्य ने अपनी गलती नहीं मानी है और ना ही हमसे संपर्क किया है।

No comments:

Post a Comment