Monday, March 26, 2018

यूपी बोर्ड में 1 अप्रैल से होगा सत्र-दिनेश शर्मा

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा है कि नकलविहीन परीक्षाएं संपन्न कराने के बाद अब उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में एक अप्रैल से नया सत्र प्रारंभ होगा। एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम से नियमित शिक्षण कराया जाएगा। एक निर्धारित अवधि से अनुपस्थित रहने वाले विद्यार्थी परीक्षा में नहीं बैठ सकेंगे।शनिवार को उप मुख्यमंत्री गोवर्धन के यमुना कुंज सत्संग भवन के कृष्णार्पण एवं ब्रजांनद महोत्सव में भाग लेने आए थे। उन्होंने फरह स्थित हिन्दुस्तान कॉलेज में ज्ञान ज्योति 2018 के समापन समारोह में भी शिरकत की। इस दौरान उप मुख्यमंत्री ने कहा कि नकल विहीन परीक्षा कराने के बाद अब पहला लक्ष्य जुलाई की जगह अप्रैल से नया सत्र प्रारंभ करना है। इसके साथ एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम होगा, जिसमें वोकेशनल एजुकेशन को वरीयता दी जाएगी। बिना आधार कार्ड के परीक्षा फार्म जमा नहीं हो सकेंगे। नये सत्र से बोर्ड परीक्षा अब मात्र 15 दिन में सम्पन्न करा ली जाएगी। नकल पकड़े जाने पर अब सीधे स्कूल-कॉलेज की मान्यता खत्म होगी। समय पर परीक्षाफल लाना भी उनका लक्ष्य है। अनावश्यक अवकाश भी खत्म किए जाएंगे। जब पढ़ाई होगी तो विद्यार्थी नकल नहीं करेगा। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्वविद्यालयीय परीक्षा में भी नकल रोकने के लिए माध्यमिक शिक्षा की तर्ज पर केन्द्र निर्धारण किए जाएंगे। प्रदेश में 166 मॉडल स्कूल उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश भर में एक अप्रैल से 166 दीनदयाल उपाध्याय मॉडल स्कूल खोले जा रहे है। 42 स्कूल अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में खोले जा रहे हैं। शिक्षकों के चयन के लिए सभी आयोगों के गठन का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है। केवल एक आयोग का गठन बाकी है, उसे भी जल्दी ही कर लिया जाएगा। लोकसेवा आयोग में पदों को विज्ञापित किया जा चुका है। जब तक नये शिक्षकों का चयन नहीं हो जाता, तब तक अवकाश प्राप्त शिक्षकों की सेवाएं ली जाएंगी तथा दो तीन महीने में चयन प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद उन्हें हटा दिया जाएगा।

No comments:

Post a Comment