Sunday, March 18, 2018

36 वर्षो से फरार हत्यारोपी अयोध्या के मठ से गिरफ्तार

पटना। पटना जिले के बिहटा के नेउरी में युवक की हत्या मामले में सजायाफ्ता सुरेश सिंह को 36 साल बाद अयोध्या से गिरफ्तार किया गया। सुरेश पिछले छह साल से अयोध्या के साकेत मठ में महंत बन कर बैठा था। उस पर अयोध्या थाना में भी मठ के पुजारी को गायब कराने के आरोप में केस दर्ज है।बिहटा थाना क्षेत्र के नेउरी गांव निवासी सुगन सिंह की 1981 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मामले में नेउरी गांव निवासी सुरेश सिंह पर हत्या का केस दर्ज हुआ। पटना हाईकोर्ट ने सुरेश को दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। सजा के बाद से वह फरार हो गया। पुलिस ने कई साल तक तलाश की, लेकिन उसका पता नहीं चला।हाल ही में हाईकोर्ट ने पुलिस को फटकार लगाते हुए आरोपित को जल्द गिरफ्तारी का निर्देश दिया। इसके बाद तलाश में जुटी पुलिस को पता चला कि वह अयोध्या में छिपा है। एसएसपी मनु महाराज ने सिटी एसपी पश्चिमी रविंद्र कुमार के नेतृत्व में टीम गठित की, जिसमें बिहटा इंस्पेक्टर रंजीत कुमार और सुशांत कुमार मंडल शामिल थे।मठ के पुजारी को गायब कर बन गया स्वामीपटना पुलिस उत्तर प्रदेश के फैजाबाद स्थित अयोध्या पहुंची। कुछ दिनों तक अयोध्या के आधा दर्जन मठों की रेकी की। पता चला कि वह साकेत मठ में छिपा है। पुलिस ने वहां के महंत से पूछताछ की। पहले तो सुरेश ने पहचान छिपाने की कोशिश की, लेकिन बाद में पुलिस को पता चल गया कि महंत ही सुरेश है।पहचान छिपाने के लिए उसने अपनी वेशभूषा बदल ली थी। पूछताछ में पता चला कि वह अपने गुर्गों की मदद से मठ के पुजारी को गायब कर खुद पांच साल से महंत बन बैठा था।

No comments:

Post a Comment