Friday, March 23, 2018

दिल्ली सरकार का ग्रीन आम बजट सबसे अलग

दिल्लीदिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार गुरुवार को अपना बजट पेश किया। दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने आज अपना महत्वाकांक्षी ग्रीन बजट पेश कर दिया। वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने दोपहर 12 बजे दिल्ली विधानसभामें बजट पेश करना शुरू किया। मनीष सिसोदिया का यह चौथा बजट था।
बजट की खास बाते-
-प्रस्तावित बजट 53 हजार करोड़ रुपए का ह इसका 13 फीसदी स्थानीय निकायों को दिया जाएगा।

-पिछले 3 साल में बजट 30,900 करोड़ से *बढ़कर 53,000 करोड़तक पहुंचा।

-निगम की टूटी सड़कोको ठीक करने के लिए 1,000 करोड़ का बजट अलग से दिया जाएगा।

– मनीष सिसोदिया बोले- पहला बजट शिक्षा-स्वास्थ्य बजट था। इस वर्ष ग्रीन बजट के प्रस्ताव अहम होंगे।

-दिल्ली में सीएनजी फिट गाडियां सस्तीहोंगी! कंपनी फिट सीएनजी वाली गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन फीस में 50% छूट का प्रस्ताव

-वरिष्ठ नागरिकों के लिए मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना* की शुरुवात के लिए 53 करोड़ का प्रस्ताव, एलजी की मंजूरी मिलना बाकी

-दिल्ली के अंबेडकर नगर और द्वारका में नए सरकारी अस्पताल,3 स्तरीय स्वास्थ्य ढांचे के तहत 164 मोहल्ला क्लिनिक बने,520 के लिए नए स्थान का चयन हुआ! मोहल्ला क्लीनिक के लिए 403 करोड़ का बजट प्रस्तावित।

-दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 1 लाख 20 हजार सीसीटीवीलगाए जाने का प्रस्ताव, हर स्कूल में 150 से ज्यादा सीसीटीवी होंगे! अभिभावक इंटरनेट के ज़रिए अपने बच्चों को देख सकेंगे

-दिल्ली में 1000 इलेक्ट्रिक बसें लाने का प्रस्ताव! चीन के बाद दिल्ली में ये इलेक्ट्रिक बसों का सबसे बड़ा बेड़ा होगा!लास्ट माइल कनेक्टिविटी के लिए मेट्रो को 905 इलेक्ट्रिक व्हीकल देने का प्रस्ताव, ई-रिक्शा चालकों को सब्सिडी दी जाएगी।

-दुपहिया वाहनों के लिए पॉलिसी बनानी होगी।

-सरकार टैक्सी पर भी फोकस कर रही है जो पूरे दिन शहर में प्रदूषण बढ़ाती है।

बुराड़ी सराएं काले खान और द्वारका में नए ब्रिज बनाए जाएंगे।

-ग्रीन बजट में प्रदूषण से निपटने के लिए पर्यावरण, ट्रांसपोर्ट, PWD, और ऊर्जा जैसे विभागों से 26 परियोजनाओं को जोड़ा है!,इससे अमोनिया 136 मीट्रिक टन कम होगा! वित्त वर्ष 2018-19 में पहला राज्य दिल्ली होगा जहां प्रदूषण के real time data को लगातार रीड किया जाएगा!

-प्रदूषण स्तर ठीक करने के लिए *दिल्ली में ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए जाएंगे।* अब तक 7.93 लाख पौधे लगाए गए, जबकि नागरिकों को साढ़े 3 लाख पौधे दिए गए. आरडब्ल्यूए और मार्केट एसोसिएशन से मिलकर और पेड़ लगाए जाएंग। दिल्ली को कीकर मुक्त किया जाएगा।

-दिल्ली के सभी रेस्तरां में 5000 रुपये प्रति तंदूर की सहायता राशि दी जाएगी!इलेक्ट्रिक जेनेरेटर पर भी सहायता राशि का प्रस्ताव! 1000 प्रदूषण के डिस्प्ले मीटर लगाए जाएंगे! World Bank की टीम के परामर्श से प्रदूषण के पूर्व अनुमान पर काम किया जाएगा

-ये देश का पहला ग्रीन बजट होगा!सभी वैज्ञानिक पहलुओं का अध्ययन किया गया है! सरकार के 26 प्रोग्राम को Green बजट से जोड़ा गया है!
WOrld Resource Institute से सलाह ली गयी है! इससे 20,98,429 मीट्रिक टन CO2 कम होगी

-पिछले 3 साल में दिल्ली का बजट 30,900 करोड़ से बढ़कर 53000 करोड़ हुआ! नगर निगम को इस साल कुल बजट का 13 फीसदी आवंटन, निगम की टूटी सड़कों की मरम्मत के लिए 1000 करोड़ का अलग बजट

सिसोदिया ने बजट पेश करते हुए कहा कि आर्थिक असमानता की दर अमेरिका और रूस से आगे पहुंच गई है। बजट बनाते वक्त इन सब बातों पर ध्यान देना जरूरी है। ब्रिक्स और सार्क देशों से भी कम पैसा हम शिक्षा और हेल्थ बजट पर खर्च कर रहे हैं। *मनीष सिसोदिया ने बजट भाषण की शुरुआत रोजगार की स्थिति पर चिंता जताते हुए किया।* उन्होंने कहा कि निचले स्तर पर विकास नहीं हो रहा। आर्थिक असमानता बढ़ रही है। इस पर ध्यान देना जरूरी है।

No comments:

Post a Comment