Friday, March 23, 2018

मनपा के नगर सेवक मन्दार हलवे ने तो

प्रमोद कुमार
कल्याण कल्याण डोम्बिवली में शिवसेना और भाजपा की सरकार है उसके बाद भी भाजपा औऱ शिवसेना के नगरसेवक मनपा के सामने अनशन करते नजर आते है वही इस बात को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है कि मनपा अधिकारीयो की मनमानी रुकने काम नाम नही ले रही है क्या अब नगरसेवकों की बात अगर नही सुनी जा रही है तो आम नागरिकों की बात कौन सुनेगा ? अनशन की हद तब पार होगी जब कपड़े उतार के अपना विरोध जताने लगते है । सायद विरोध जताने का तरीका उनके हिसाब से सही लग रहा हो लेकिन इससे मनपा की बदनामी और काम काज के ऊपर उठ रहे सवाल से नही बचा जा सकता अभी हाल में ही मनसे नगरसेवक मंदार हलवे बड़े जोर शोर से महासभा में अधिकारियों की पोल खोल रहे थे । तभी उनके ऊपर आरोप लगा के शांत करा दिया गया लेकिन आज भी मनपा के काम काज के ऊपर आम नागरिक अपनी आवाज बुलंद करने से बाज नही आ रहे है । अव rti कार्यकर्ता भी डेर सारी जानकारी निकाल कर मनपा अधिकारीयो को डराने में लगे हुए है लेकिन इस सब के विरोध प्रदर्शन का कुछ फर्क नही पड़ रहा है । आने वालों दिनों में और भी आंदोलन , अनशन देखने को मिल सकते है कुछ अधिकारियों के ऊपर गाज भी गिर सकती है लेकिन देखने वाली बात ये होगी क्या करवाई होगी ? या करवाई के बाद काम काज सही तरीके से चलेगा ? गली और नुकड़ में कल्याण डोम्बिवली महानगरपालिका की चर्चा चाय के साथ जोर सोर से सुरु है ।

No comments:

Post a Comment