Wednesday, March 28, 2018

गोंडा में फिर से अवैध हथियारों का जखीरा बरामद

गोंडा नवागत पुलिस अधीक्षक श्री लल्लन सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया दिनांक 26/03/2018 को प्रभारी स्वाट टीम को मुखबिर के जरिए सूचना प्राप्त हुई असलहा तस्करी वा निर्माण में सलिप्त ओंकार सिंह भारी मात्रा में अवैध असलहा लेकर तस्करी करने जा रहा है इस सूचना पर स्वाट टीम व कोतवाली देहात की संयुक्त टीम द्वारा सुभागपुर मोड़ के पास ओंकार सिंह को गिरफ्तार किया गया उसके कब्जे से दो अदद 312 बोर के तमंचे, 2 अदद 12 बोर के तमंचे व तीन जिंदा कारतूस बरामद हुए। ओंकार से पूछताछ की गई तो उसने बताया की रामलक्षन वर्मा निवासी बिशनपुर गणेश ने अपने घर में अवैध असलहा फैक्ट्री लगा रखी है। रामलक्षन वर्मा असलहे का निर्माण करता है तथा खरीदार तय कर मुझे पहुंचाने के लिए देता है मेरे द्वारा मात्र आपूर्ति का काम किया जाता है। इस सूचना पर तत्काल स्वाट/सर्विलांस टीम तथा थाना कोतवाली देहात की संयुक्त टीम द्वारा राम लक्षन वर्मा के घर दबिश दी गई तो उसके घर से एक अदद बंदूक 12 बोर, दो अदद अध्धी राइफल, तीन जिंदा कारतूस 315 बोर, दो जिंदा कारतूस 12 बोर, 0.22 के दो अदद अर्धनिर्मित तमंचे व असलहा बनाने के उपकरण इलेक्ट्रिक ड्रिल मशीन वेल्डिंग गेज लोहे का लाइनर पिस्टन,7अदद नाल टुकड़ा 315 बोर, 8 अदद नाल टुकड़ा 12 बोर, वा भारी मात्रा में शस्त्र बनाने के उपकरण बरामद हुए। गिरफ्तार राम लक्षन वर्मा से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि अवैध तरीके से असलहा निर्माण का कार्य विगत कई वर्षों से कर रहा है वह असलहों का निर्माण कर सप्लायरों के माध्यम से अच्छी कीमतों पर गोंडा सहित अन्य जनपदों में सप्लाई करता है। गिरफ्तारी व बरामदगी के संबंध में थाना कोतवाली देहात पर मुकदमा अपराध संख्या 79/18 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट वा मुकदमा अपराध संख्या 80/18 धारा 3/5/25 आर्म्स एक्ट का अभियोग पंजीकृत कर विवेचना की कार्रवाई प्रारंभ की गई है। जरूरत पड़ने पर अभियुक्तों को रिमांड पर लिया जाएगा जिससे अभियुक्त किस किस जनपद में सक्रिय हैं और कहां-कहां सप्लाई करते हैं यह सब बातें खुलकर सामने आ सकें। पुलिस अधीक्षक गोंडा द्वारा गिरफ्तारकर्ता टीम को उत्साहवर्धन हेतु ₹5000 का नगद पुरस्कार देकर पुरस्कृत किया गया । इस तरह का सराहनीय है ,लेकिन ऐसी फैक्ट्री काफी दिनों से चल रही थी  क्या स्वाट टीम को जानकारी नही थी    यह बात हजम नहीं हो रही है इस का मास्टर माइंड व इसके संरक्षक को क्या पुलिस गिरफ्तार कर पाएंगे ,जिनको गिरफ्तार किया है वे क्या वास्तव में दोषी है ऐसे कई सवाल है जिसका उत्तर पुलिस के पास नही है ।

No comments:

Post a Comment