Wednesday, April 11, 2018

रिटायर दरोगा को उसके पुत्र समेत गोलियों से भूना

आदर्श दुबे
गोरखपुरमुकदमें की तारीख देखकर बेटे के साथ बाइक से लौट रहे रिटायर्ड दरोगा और उनके बेटे को मंगलवार की शाम को झंगहा के गजाईकोल पुलिया पर बदमाशों ने गोलियों से छलनी दिया। दरोगा ने भागकर जान बचाने की कोशिश की तो बदमाशों ने उन्हें दौड़ाकर गोली मारी।घटना से इलाके में सनसनी फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ा। दोनों शव को उठाने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इससे पहले दरोगा के भाई और बेटे की भी हत्या हुई थी। उस हत्या में फरार चल रहे युवक और उसके साथियों पर पिता-पुत्र की हत्या का आरोप लगाया जा रहा है।
झंगह थाना क्षेत्र के सुगहा बारी टोला निवासी 60 वर्षीय जयहिंद यादव छह महीने पहले पुलिस विभाग में दरोगा से रिटायर्ड हुए हैं। मंगलवार को अपने छोटे बेटे 25 वर्षीय नागेन्द्र यादव के साथ भाई और बेटे की हत्या में मुकदमें की तारीख देखने बाइक से गोरखपुर आए थे। पिता-पुत्र शाम करीब चार बजे गांव लौट रहे थे। अभी गांव के करीब गजाईकोल पुलिया के पास ही पहुंचे थे कि उसी दौरान सामने से बाइक से आए दो बदमाशों ने उन्हें गोलियां से भून दिया। बदमाशों ने पहले बाइक चला रहे नागेन्द्र को गोली मारी। फायरिंग के बाद जयहिंद ने भाग कर छिपने की कोशिश की तो बाइक पर पीछे बैठे बदमाश ने दौड़ाकर उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया। दोनों की हत्या के बाद वह असलहा लहराते हुए फरार हो गए।
गोली की आवाज सुनकर जब तक ग्रामीण मौके पर पहुंचे तब तक हमलावर फरार हो चुके थे। लोगों ने इसकी सूचना 100 नम्बर पर दी। पिता-पुत्र की हत्या की खबर मिलने के बाद इलके में सनसनी फैल गई। झंगहा, चौरीचौरा पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने शव को ले जाने की कोशिश की पर उग्र भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया। पुलिसवालों की गाड़ियां तोड़ दी। भीड़ का आक्रोश देखते हुए  पीएसी के अलावा अन्य फोर्स मंगाई गई। जिलाधिकारी विजेन्द्र पांडियान और एसएसपी शलभ माथुर भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। अफसरों के समझाने और हत्यारोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देने के बाद किसी तरह से ग्रामीण माने और देर शाम को शव को पुलिस कब्जे में ले पाई।
गांव में पुलिस और पीएसी तैनात
पिता-पुत्र की हत्या के बाद उपजे आक्रोश को देखते हुए गांव में हत्यारोपियों के घर के पास पुलिस और पीएसी लगा दी है। हालांकि घर पर कोई है नहीं लेकिन गुस्साए लोग घर में तोड़फोड़ के साथ अगजनी न कर दें इसके लिए पुलिस ने एहतियातन यह कदम उठाया है।

No comments:

Post a Comment