Tuesday, April 17, 2018

सिपाही को बंधक बनाने के मामले में पहुंची पुलिस ने भांजी लाठिया

कुशीनगर से आदर्श दुबे की रिपोर्ट

कुशीनगर के तुर्कपट्टी क्षेत्र के ग्राम रुदवलिया में रविवार की रात दो सिपाहियों को ग्रामीणों द्वारा बंधक बनाने के मामले में सोमवार को एडिशनल एसपी के नेतृत्व में पांच थानों की पुलिस द्वारा गांव में की गई पुलिसिया कार्रवाई से ग्रामीण दहशत में हैं। ग्रामीणों ने पुलिस पर पांच लोगों के घरों में घुसकर तोड़फोड़ करने के साथ एक परिवार की पांच महिलाओं की पिटाई करने का भी आरोप लगाया है।पुलिस की पिटाई से एक महिला की हालत गंभीर बताई जा रही है। पुलिस ने सात लोगों को हिरासत में लेकर देर शाम पांच लोगों को शांतिभंग में जेल भेज दिया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे फाजिलनगर विधायक गंगा सिंह कुशवाहा ने पूरे मामले की निंदा करते हुए पुलिसिया कार्रवाई को अनुचित बताया। रविवार की रात पुलिस की पिटाई से घायल युवक के पक्ष में तहरीर लेकर गांव के दर्जनों लोग सोमवार की सुबह 10 बजे थाने पहुंचें और कार्रवाई की मांग की।यहां पर पुलिस और परिवारीजनों के बीच मामले को समाप्त करने पर सहमति बनी। इसी बीच दोपहर करीब 1.30 बजे पांच थानों की पुलिस 9 गाड़ियों से रुदवलिया गांव में पहुंची और पुलिस के पिटाई से घायल गयासुद्दीन के पिता युसूफ व भाई राजकरीम समेत सात लोगों को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने सामने आने वालों को पीटना शुरू कर दिया। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस कर्मियों ने गयासुद्दीन के पड़ोसी सुगंदर प्रसाद गोंड के घर में घुसकर टीवी, ड्रेसिंग टेबल, आलमारी, बेड समेत नवनिर्मित दीवार को तोड़ दिया।सुगंदर का आरोप है कि पुलिस ने घर में मौजूद सीमा, रीता, सोनी, नीतू व 8 दिन के मासूम की मां रीमा को मारा-पीटा। पुलिस की पिटाई से गंभीर रूप से घायल रीमा का इलाज कसया अस्पताल में चल रहा है। पुलिसिया कार्रवाई से ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गयी। लोग पुलिस के भय से इधर-उधर भागने लगे रविवार की रात करीब 12.30 बजे रुदवलिया निवासी ग्यासुद्दीन गेहूं की कम्पाइन से कटाई करने के बाद ट्रैक्टर से ढुलाई कर रहा था। इस दौरान बाइक में पेट्रोल समाप्त होने के कारण वह रुदवलिया पेट्रोल लेने के लिए जा रहा था कि रास्ते में बैंक ड्यूटी में तैनात थाने के दो सिपाहियों ने उसको रोककर रात में आने का कारण पूछते हुए गाड़ी का पेपर मांगा। युवक ने पेपर घर होने की बात कह उसे मंगवाने के लिए भाई राजकरीम को घर भेज दिया।इस दौरान किसी बात को लेकर युवक और पुलिस कर्मियों में कहासुनी शुरू हो गई। इससे नाराज पुलिसकर्मी युवक की पिटाई कर डायल 100 पुलिस को बुलाकर उसे थाने भेज दिया। आरोप है थाने में उसकी फिर से पिटाई करने पर उसकी हालत बिगड़ता देख पुलिसकर्मी थाने की गाड़ी से युवक के दरवाजे पर छोड़ने पहुंचे। इसी दौरान आक्रोशित लोगों ने पुलिस कर्मियों को बंधक बना लिया था।रुदवलिया में हुई पुलिसिया कार्रवाई की सूचना पाकर गांव में पहुंचे फाजिलनगर के भाजपा विधायक गंगा सिंह कुशवाहा ने पीड़ित परिवारीजनों से मिलकर ग्रामीणों से घटना के बारे में जानकारी ली। विधायक ने कहा कि रुदवलिया की घटना दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है। इससे सरकार की छवि धूमिल हुई है। निर्दोष लोगों को मारना-पीटना व तोड़-फोड़ करना किसी भी दशा में उचित नहीं है। उन्होंने ग्रामीणों से एसओ समेत पुलिस कर्मियों के विरुद्ध एसपी से शिकायत कर कार्रवाई कराने की बात कही।

No comments:

Post a Comment