Thursday, April 19, 2018

पत्रकार के गाल थपथपाने के बाद राज्यपाल ने मांगी माफी

चेन्नई प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान महिला पत्रकार के गाल थपथपाने के कारण विवादों में फंसे तमिलनाडु के राज्यपाल ने माफी मांग ली है। पत्रकार को चिट्ठी लिखकर उन्होंने इस मामले पर सफाई दी। उन्होंने कहा कि 'सवाल की तारीफ' करते हुए उन्होंने ऐसा किया।
राज्यपाल ने पत्र में लिखा- "आपके गाल को मैंने ऐसे ही थपथपाया, जैसा मैं अपनी पोती के गालों को थपथपाता।।। यह स्नेहिल व्यवहार था और ऐसा मैंने बतौर पत्रकार आपकी परफॉर्मेंस को देखते हुए प्रशंसा में किया क्योंकि मैं भी 40 सालों तक इस पेशे का हिस्सा रहा हूं। आपके ईमेल से मैं समझ सकता हूं कि आपको इस घटना से दुख पहुंचा है। मैं खेद जताना चाहता हूं और दुख को कम करना चाहता हूं"।महिला पत्रकार लक्ष्मी सुब्रमण्यम ने खुद राज्यपाल की चिट्ठी को ट्वीट करके उनकी माफी को स्वीकार किया। हालांकि पत्रकार ने इसी ट्वीट में ये भी कहा " मै इस बात से सहमत नहीं हूं कि आपने मेरे गाल सवाल के एप्रीसिएशन में थपथपाएं थे।"बता दें कि तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित एक महिला पत्रकार के गाल थपथपाने के कारण विवादों में घिर गए थे। यह घटना उस समय हुई, जब 78 वर्षीय राज्यपाल राजभवन में भीड़ भाड़ वाले प्रेस कांफ्रेंस हॉल से जा रहे थे।महिला पत्रकार लक्ष्मी सुब्रमण्यम TheWeek में काम करती है। घटना के बाद उन्होंने ट्वीट किया, "मैंने तमिलनाडु के गवर्नर बनवारीलाल पुरोहित से प्रेस कॉन्फ्रेंस के आखिर में एक सवाल पूछा। उन्होंने बिना मेरी इजाजत के मेरे गाल पर थपथपाया।" इसके बाद विपक्षी द्रमुक ने घटना को संवैधानिक पद पर बैठे एक व्यक्ति का 'अशोभनीय' काम करार दिया था।

No comments:

Post a Comment