Sunday, April 8, 2018

जब किसानों के धरने में अचानक पहुंचे किसानों के बड़े नेता

किसान महापंचायत रामपाल जाट कल 5 अप्रैल को प्रातः जयपुर से प्रस्तान कर दिनभर टोंक जिले के कार्यक्रमो मे व्यस्त रहै, उसके उपरांत अलवर जाते समय सवाई माधोपुर रुके और वहां पर किसानों के कलेक्ट्रेट के सामने धरने को देखकर उसमें सम्मिलित हुए और अलवर जिले के कार्यक्रमों के लिए प्रस्थान किया  कल 7 अप्रैल शाम को अलवर से प्रस्थान कर सीकर जिले में श्री माधोपुर पहुंचने का कार्यक्रम है 8 अप्रैल को किसानों के पड़ाव मे सम्मलित होगै ।
  9 अप्रैल को मुख्यमंत्री के जनसंवाद कार्यक्रम में श्रीमाधोपुर में ही मुख्यमंत्री का घेराव करेंगे।
4 जिलों के प्रस्ताव प्रवास का न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरसों,गैहू,चना, की खरीद केंद्र वर्ष भर चालू रखवाने के साथ ही जौ की खरीद आरंभ करना। चल रही खरीद मे प्रति बीघा 3.50 क्विंटल है।
यह खरीद उपज से बहुत कम है खरीद को वास्तविक उपज तक बढाया जावे ।
न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद नही होने के कारण न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम दाम पर फसल बीकी गेहूं पर ₹265 जो पर ₹225 सरसों पर ₹500 तथा चने पर ₹1000 तक का घाटा उठाना पड़ रहा है दूसरी ओर पटवारियों के पद रिक्त होने के कारण गिरदावरी नकल नहीं मिलने से किसान अपनी उपज न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने से भी  वंचित हो रहे हैं।
भारतीय किसान संघ की ओर से जिला कलेक्ट्रेट पर चल रहे धरने को पूर्ण समर्थन देते हुए धरना आयोजित करने वाले सभी कार्यकर्ताओं का उत्साहवर्धन किया साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर संपूर्ण कर्ज मुक्ति और कृषि उपजो के पुरे दाम लेने तक  संघर्ष चालू रखने की आवश्यकता है।
राष्ट्रीय अध्यक्ष राम के साथ किसान महापंचायत राजस्थान के प्रचार मंत्री मिश्रीलाल गुर्जर किसान महापंचायत प्रदेशाध्यक्ष छात्र रामेश्वर प्रसाद चौधरी  भारतीय किसान संघ जिला अध्यक्ष रामावतार मीणा, जिला मंत्री रामजी लाल मीणा आत्माराम गहलोत भेरूलाल मीणा, तहसील अध्यक्ष सवाई माधोपुर घनश्याम मीणा

No comments:

Post a Comment