Sunday, May 6, 2018

सांसद महेश गिरी के कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं में झड़प

आज के दिन लक्ष्मी नगर विधानसभा के किशन कुञ्ज वार्ड में पूर्वी दिल्ली के सांसद महेश गिरी जी और जिला अध्यक्ष रामकिशोर शर्मा जी ने प्रवास कार्यक्रम के तहत क्षेत्र की समस्याएं ना सुनकर कर अपने भाषण के दौरान   कर्मठ और निस्वार्थ भाजपा को समर्पित कार्यकर्ताओं को बोलने नहीं दिया गया अगर किसी कार्यकर्ता ने हाथ उठाकर अपनी समस्या को शांति से रखना चाहा तो उसे चुप करा दिया गया कार्यक्रम के बाद कार्यकर्ताओं ने अपनी और क्षेत्र की समस्याएं बतानी चाहिए तो महेश गिरी जी ने अनसुना करते हुए अपने बॉडीगार्ड और बाउंसरों से जिनमें एक भास्कर नाम का और एक नीली पगड़ी वाला सरदार था उन दोनों ने और बाकी उनके लोगों ने सुशील त्यागी और अनिल त्यागी नाम के दो कर्मठ कार्यकर्ताओं से मारपीट शुरु कर दी महेश गिरी जी ने उन्हें रोकने के बजाय सड़क छाप भाषा जिसे टपोरी भाषा कहा जाता है का इस्तेमाल करते हुए उनसे गाली गलौज की और तू तड़ाक भाषा का प्रयोग किया जो कि एक सम्मानित पद पर बैठे हुए आदमी को शोभा नहीं देता l  2019 आने पर यह सांसद को 4 साल बाद हमारी याद तो आई लेकिन हमारी समस्याएं सुनने के लिए समय नहीं था समय था तो बस गाली-गलौज और हम कार्यकर्ताओं को पिटवाने का    सम्मानित पद में बैठे हुए व्यक्ति को यह शोभा नहीं देता  lभविष्य में हमें महेश गिरी जी से हम दोनों भाइयों को जान का खतरा हैl माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी यह बात मैं आपके संदर्भ में लाना चाहता हूंl

No comments:

Post a Comment