Friday, May 25, 2018

असलहा भंडार में गन में फंसी गोली निकालते वक्त दरोगा को लगी गोली

आदर्श दुबे की रिपोर्ट
गोरखपुर पुलिस लाइंस में असलहा भंडार में गोली लगने से एक दारोगा गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें मेडिकल कालेज ले जाया गया। हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने केजीएमयू लखनऊ रेफर कर दिया है। घटना की सूचना के बाद एसएसपी सहित सभी अधिकारी मौके पर पहुंच गए। बताया जा रहा है कि आरमोरर एक पाइप गन से गोली निकाल रहा था। उसमें फंसी गोली दगने से दरोगा को गोली लग गई।
गोण्डा के मनिकापुर निवासी दरोगा पुनीत तिवारी नए बैच के दारोगा हैं। उन्नाव में ट्रेनिंग के बाद गोरखपुर में उनकी यह पहली पोस्टिंग है। चार महीने पहले उन्हें कैंट थाने के कलेक्ट्रेट चौकी पर संबद्ध किया गया है। उन्हें एक सर्विस पिस्टल भी दी गई है।
बताया जा रहा है कि पिस्टल में दिक्कत होने पर वह उसे ठीक कराने पुलिस लाइंस के असलहा भंडार में ले गए थे। उनके साथ दो सिपाही भी गए थे। उसी दौरान आमोरर राजेश सिंह 12 बोर के पाइप गन में फंसी गोली निकाल रहे थे। बताया जा रहा है कि आरमोरर ने सभी को वहां से हटने के लिए कहा। दोनों सिपाही तो हट गए थे पर पुनीत वहीं खड़े रहे । पाइप गन में फंसी गोली दग गई और पुनीत के बाएं जबड़े को छेदते हुए कान के पास से निकल गई। घटना के बाद वह जमीन पर गिर गए।पुलिस लाइन में अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन में उन्हें मेडिकल कालेज ले जाया गया। सूचना के बाद एसएसपी शलभ माथुर, एसपी उतरी रोहित सिहं सजवान, एसपी सिटी विनय सिहं, सीओ क्राइम प्रवीण सिहं,सीओ कैन्ट अतुल चौबे सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मेडिकल कालेज के डॉक्टरों ने गोली निकालने की कोशिश की लेकिन गोली फंसे होने और हालत गंभीर होने पर उन्होंने हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया।

No comments:

Post a Comment