Sunday, May 20, 2018

हंगामेदार रही पंचायत सुकरौली की बैठक

कुशीनगर से आदर्श दुबे की रिपोर्ट

सुकरौली विकास खण्ड मुख्यालय पर शनिवार को क्षेत्र पंचायत सदस्यों की बैठक ब्लाक प्रमुख इन्दमणि सिंह की अध्यक्षता में  ब्लॉक सभागार में आयोजित की गई। बैठक में सदन में मौजूद सदस्यों द्वारा पिछली कार्यवाही की पुष्टि की गई।ब्लाक प्रमुख श्री इन्द्रमाणि सिंह की अध्यक्षता में शुरू हुई बैठक में मनरेगा, राज्यवित्त, तेरहवा वित्त, प्रधानमंत्री आवास योजना, एन.आर.एल.एम.योजना,विभिन्न प्रकार के पेशन योजना, निशुल्क बोरिंग योजना, एवं पेयजल योजना, स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत गांवों को खुले में शौच मुक्त करने पर चर्चा की गई। एपीओ प्रत्युश शुक्ला ने मनरेगा के तहत नालों व पोखारियों की खुदाई कराने के लिए में विस्तृत चर्चा की गई। कुछ सदस्यों   ने कृषि सम्बंधित समस्याओ व उसके निदान की बात उठाई गयी। सहायक विकास अधिकारी कृषि द्वारा वर्मी कम्पोस्ट व शेड निर्माण पर चर्चा की गई।बिधायक पवन केडिया के प्रतिनिधि अमर केडिया ने क्षेत्र पचायत सदस्यों एवं ग्राम प्रधानों को सम्बोधित करते हुए केन्द्र एवं प्रदेश सरकार के द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओ को जमीनि स्तर पहुंचाते हुए सभी को लाभान्वित कराये।तथा ग्राम प्रधान इण्डिया मार्का हैण्डपम्पों की शिकायत को दूर करें क्योंकि इसके रखरखाव का बजट ग्राम प्रधानों के खाते मे ही आता है।प्रधान संघ महामंत्री उमाशंकर त्रिपाठी ने गांव में तैनात सफाई कर्मी के डीपीआरओ एव एडीओ पंचायत के आदेश के बावजूद एक माह से ग्राम सभा में नही आने का मामला उठाया।ग्राम प्रधान प्रतिनिधि नर्वदा शाही ने गांव में तैनात अध्यापक द्वारा बिना पढ़ाए वेतन का भुगतान लेने का मामला उठाया। जिस पर सदन में सभी मौजूद सदस्यों ने एक स्वर में सहमति जताई। मठसूरजगिर के ग्राम प्रधान  दीनानाथ सिंह गांव के परिषदीय विद्यालयों  पर तैनात शिक्षकों द्वारा बीआरसी  पर जाने के बहाने विद्यालय से गायब होने और गांव में  आशा व ए एन एम द्वारा गर्भवती महिलाओ में आयरन व अन्य दवाइयों का वितरण किये बिना ही रजिस्टर में दर्ज कर लिए जाने का मुद्दा उठाया।क्षेत्र पंचायत सदस्य शमशेर ने प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षक द्वारा बिना पढ़ाए वेतन भुगतान कराने का मामला उठाया। सदन में मौजूद बीईओ सत्यप्रकाश कुशवाहा  समुचित जबाब नही दे सके।एडीओ समाज कल्याण योगेश्वर सिंह ने पेंशन के बारे बताया कि वर्ष 2017 -18 में 1080 प्रस्ताव आये थे, जिसमे से मात्र 251 पेंशन ही स्वीकृत हुए।  ग्राम प्रधानों ने मनरेगा की मजदूरी का समय से भुगतान न होने का मामला उठाया। सदन में मौजूद सदस्यों को संतोष जनक जबाब नही मिल सका। बैठक की अध्यक्षता कर रहे ब्लाक प्रमुख इन्द्रमणि सिंह ने बैठक में उपस्थित ग्राम प्रधानों व सदस्यों के प्रति आभार प्रकट किया।इस मौके पर विधायक प्रतिनिधि अमर केडिया,केन यूनियन पिपराइच के चेयरमैन एवं भाजपा के बरिष्ठ नेता सत्येन्द्र कुमार सिंह, प्रधान संघ अध्यक्ष राजेश गुप्ता, महामंत्री उमाशंकर | त्रिपाठी, बीडीओ सुकरौली चित्रा मिश्रा, राकेश कुमार त्रिपाठी, एडीओ पंचायत अवधेश कुमार राय, खण्ड शिक्षाधिकारी सत्यप्रकाश कुशवाहा,अविनाश सिंह उर्फ सोनू, प्रमुख प्रतिनिधि प्रमोद सिंह,क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रतिनिधि रुदल चौहान, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि फौजदार सिंह, सुनील कन्नौजिया, दीनानाथ सिंह, विजय चौधरी, राकेश मिश्रा, केशव पासवान, जेके विश्वकर्मा, मनोज चौरसिया, छोटे लाल गुप्ता ,राजकुमार पटेल,आदि ग्राम प्रधान व क्षेत्र पंचायत सदस्य मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment